इस एक्ट्रेस के घर में डेटॉल की बॉटल में रहती थी ब्रांडी, शराब की लत ने ले ली जान

इस एक्ट्रेस के घर में डेटॉल की बॉटल में रहती थी ब्रांडी, शराब की लत ने ले ली जान

बॉलीवुड की बहुत ही खूबसूरत एक्ट्रेस कही जाने वाली मीना कुमारी का आज जन्मदिन है. आपको बता दें कि मीना एक बहुत खूबसूरत एक्ट्रेस रह चुकीं हैं लेकिन उनकी जिंदगी शराब के नशे में डूब गई. जी हाँ, फिल्म साहब बीवी और गुलाम..में मीना कुमारी की शराब में खुद को डुबा देने की अदाकारी आप सभी को याद होगी. इस फिल्म में वह जिस अंदाज में नजर आईं थीं असल ज़िंदगी में वह वैसी ही रही. जी हाँ, कमाल अमरोही से देर रात तक फोन पर बातें करने वाली मीना शराब की बोतलों में ऐसे गुम हुईं कि आखिर में उन्हें अपनी जान गंवानी पड़ी. आपको बता दें कि मीना कुमारी ने पहली बार शराब कब पी, इसका पता नहीं चल पाया, लेकिन वरिष्ठ पत्रकार विनोद मेहता ने अपनी किताब 'मीना कुमारी: द क्लासिक बायोग्राफी' में लिखा है कि मीना कुमारी को उनके डॉक्टर सईद टिमर्जा ने नींद की गोलियाें की जगह, रोज एक पैग ब्रांडी लेने का सजेशन दिया था.

वहीं उन्हें यह सलाह इसलिए दी गई थी क्योंकि वह रातों को जागा करती थीं. कहा जाता है वह दिन में भी नहीं साेती थी और उनका टेलीफोनिक रोमांस उन्हें आंखें बंद करने नहीं देता था इस करण डॉक्टर ने उन्हें रोज एक पैग ब्रांडी लेने का सजेशन दिया था लेकिन डॉक्टर को क्या पता था यह सजेशन मीना की आदत बन जाएगा. एक बार एक इंटरव्यू में कमाल अमरोही ने कहा बताया था कि ''ब्रांडी का एक पैग ढेर सारे पैग में बदल गया था. लेकिन किसी को पता नहीं था. एक दिन खुद कमाल ने नौकरानी को गिलास ब्रांडी से आधा भरते देखा. जो डॉक्टर के बताए पैग से कहीं ज्यादा था. उस समय कमाल ने नौकरानी को धमकाते हुए मीना को ब्रांडी न देने कहा, लेकिन उन्हाेंने पाया कि यह मीना कुमारी की आदत बन चुका था.''

आपको बता दें कि वह यह तक बता चुके हैं कि ''उस घटना के कुछ दिन बाद उनके बाथरूम की डेटॉल की बॉटल्स में एंटीसेप्टिक की जगह ब्रांडी मिली. उस दिन से अमरोही रोजाना डेटॉल की बॉटल चेक किया करते थे, और यह सुनिश्चित करते थे कि कहीं मीना ने फिर से ब्रांडी पीना शुरू तो नहीं किया.'' शराब की आदत ने मीना को लिवर सिरॉसिस डाइग्नोस दे दिया और उन्हें एडवांस ट्रीटमेंट की दरकार हुई. कहा जाता है इस कारण उन्हें जून 1968 में इलाज के लिए लंदन जाना पड़ा और डॉ. शैला शेरलाॅक ने अगस्त 1968 तक उन्हें ट्रीटमेंट दिया वहीं लंदन से लाैटने के बाद मीना कुमारी बेहद कमजोर हो चुकी थीं लेकिन इसके बाद भी उन्होंने 6 फिल्मों में काम किया. वहीं लंदन से लौटने के बाद मीना ने शराब की एक बूंद तक को हाथ नहीं लगाया था. आपको बता दें कि मीना कुमारी की आखिरी फिल्म ‘पाकीजा’ थी और इस फिल्म के दौरान वह खूब बीमार थी लेकिन फिर भी उन्होंने फिल्म में काम किया. वहीं देखते देखते उनका रोग असाध्‍य हो गया था और 31 मार्च 1972 को लिवर सिरोसिस के चलते मीना कुमारी ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया.

रफी को इस गाने के लिए मिला था नेशनल अवॉर्ड, सुनते ही हर किसी की ऑंखें हो जाती है नम

बॉलीवुड की इस मशहूर एक्ट्रेस संग जीनत अमान के पिता ने किया था हलाला, जानिए सच...

नेहा कक्कड़ के लिए आईं बुरी खबर, माता-पिता की तकरार का वीडियो आया सामने !