#Metoo : एम जे अकबर की मुश्किलें बढ़ी, प्रिया रमानी के समर्थन में आईं 20 महिला पत्रकार

#Metoo : एम जे अकबर की मुश्किलें बढ़ी, प्रिया रमानी के समर्थन में आईं 20 महिला पत्रकार

नई दिल्ली. देश में पिछले कुछ समय से मीटू अभियान बहुत जोर पकड़ रहा है और देश के कई बड़े-बड़े नेता और हस्तियों पर इस अभियान के तहत कई तरह के आरोप भी लग रहे है. इनमे से ही एक है बीजेपी नेता और केंद्र सरकार के विदेश राज्‍य मंत्री एमजे अकबर जिनकी इस मामले में दिनों-दिन मुश्किलें बढ़ती ही जा रही है.

#Me Too अभियान : केंद्रीय विदेश राज्‍य मंत्री एमजे अकबर पर यौन उत्‍पीड़न का एक और आरोप

दरअसल वरिष्ठ बीजेपी नेता और देश के विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर पर तक़रीबन एक हफ्ते पहल ही प्रिया रमानी नाम की एक महिला पत्रकार ने गंभीर आरोप लगाते हुए उन्हें यौन उत्पीड़न का आरोपी बताया था. इसके बाद कई अन्य महिलाएं भी एमजे अकबर पर इस तरह के आरोप लगा चुकी है. इस तरह से केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर पर अब तक यौन शोषण के 16 से भी ज्यादा आरोप लग चुके है. इस मामले में कुछ समय पहले ही विदेश से लौटे केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर ने अपने ऊपर आरोप लगाने वाली पहली महिला प्रिया रमानी के खिलाफ दिल्ली की एक अदालत में मानहानि का मुकदमा भी दर्ज करवाया था.

#MeToo: अकबर पर लगे यौन शोषण के आरोपों पर अमित शाह ने कही ऐसी बात, छिड़ सकती है नई बहस

एमजे अकबर द्वारा महिला पत्रकार प्रिया रमानी पर मुकदमा दर्ज करवाने के कुछ समय बाद ही प्रिया ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था की अकबर यौन शोषण की पीड़िताओं को अपने पैसे और पावर के दम पर डराना धमकाना चाह रहे है. हालाँकि इसके बाद से अब तक प्रिया रमानी के समर्थन में तक़रीबन 20 अन्य महिला पत्रकार भी आ गई है जो कोर्ट में एमजे अकबर के खिलाफ गवाही देने को राज़ी भी है. ऐसे में अब केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर की मुश्किलें बढ़नी तय मानी जा रही है. 

ख़बरें और भी 

#MeToo : एमजे अकबर पर एक और महिला ने लगाया यौन शोषण का आरोप

#METOO : प्रिया रमानी बोली, अकबर की हर शिकायत से लड़ने के लिए तैयार हूं

#Metoo : अब एमजे अकबर ने प्रिया रमानी के खिलाफ दर्ज कराया मानहानि का केस

#MeToo पर एम जे अकबर ने तोड़ी चुप्पी, कहा क़ानूनी कार्यवाही के लिए तैयार रहें महिला पत्रकार

#metoo : विदेश से लौटे एमजे अकबर, आरोपों पर नहीं दिया कोई बयान