तेवतिया की हालत में सुधार, हमलावर चोरी की हुई गाड़ी में आए थे

गाजियाबाद : गुरुवार की शाम गाजियाबाद के मुरादनगर में उतर प्रदेश बीजेपी के नेता बृजपाल तेवतिया पर अज्ञात हमलावरों ने एके-47 राइफल से हमला कर दिया। इस हमले में तेवतिया सहित कुल 6 लोग घायल हो गए। तेवतिया को गृह मंत्री राजनाथ सिंह का करीबी माना जाता है। हांला कि फिलहाल उनकी हालत स्थिर है।

हमलावर फॉर्च्यूनर कार में सवार होकर आए थे। जिसे दो माह पहले ही चुराया गया था अर्थात् इस हमले की प्लानिंग लंबे समय से की जा रही थी। पुलिस ने इस मामले में कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की है, जिससे पता चलता है कि मामलाी आपसी कलह का है। एडीजी लॉ एंड ऑर्डर ने बताया कि हमले में शामिल रहे लोगों की पहचान हो गई है।

विवाद का कारण मुखबिरी और संपत्ति को बताया जा रहा है। हमलावर जिस गाड़ी में सावर होकर घटना को अंजाम देने आए थे, उस गाड़ी को गुड़गांव से 8 जून को चुरा लिया गया था। गुड़गांव की एक कंपनी के नाम से यह गाड़ी रजिस्टर्ड है। पुलिस ने सुनीता नाम की एक पुलिस कांस्टेबल को हिरासत में लिया है।

उससे पूछताछ के दौरान पता चला कि वो अपने पति राकेश हसनपुरिया की मौत का बदला लेने के लिए इस प्लान में शामिल हुई थी। हांला कि उसे पूरी प्लानिंग के बारे में पता नहीं था। इससे पहले भी तेवतिया पर हमले की प्लानिंग की गई थी, लेकिन ऐन वक्त पर प्लान को बदल दिया गया। हमले में राजनगर के पास एक जमीन को लेकर रंजिश सामने आई है।

इस मामले में मनोज समेत कई लोगों के नाम सामने आए है। तेवतिया को पहले भी जान से मारने की धमकी मिल चुकी है। कुछ ही दिन पहले उनकी सुरक्षा वापस ले ली गई थी, लेकिन फिर भी उनके साथ 10 गनमैन हमेशा रहते थे। हिरासत में ली गई कांस्टेबल सुनीता कुख्यात क्रिमिनल राकेश हसनपुरिया की पत्नी है।

बताया जा रहा है कि हसनपुरिया 2003 में पुलिस एनकाउंटर में मारा गया था। उस वक्त कहा जा रहा था कि तेवतिया ने उसकी मुखबिरी की थी। इसके अलावा शेखर चौधरी और मनोज फौजी को भी हिरासत में लिया गया है। शुक्रवार की सुबह हमले की खबर मिलने के बाद विदेश राज्य मंत्री जनरल वी के सिंह तेवतिया को देखने नोएडा के फोर्टिस अस्पताल पहुंचे।

संस्कृति मंत्री महेश शर्मा भी रात 12 बजे उन्हें देखने पहुंचे। शर्मा ने कहा कि यूपी में बदमाशों के मन में सरकार का डर नहीं है। तीन घंटे तक लगातार ऑपरेशन चलने के बाद अब तेवतिया की हालत स्थिर है। डॉक्टरों ने बताया कि शरीर में चढ़े खून के चलते बॉडी कैसे रिएक्ट करती है, ये आने वाले 4 से 5 घंटे में साफ होगा। फिलहाल बृजपाल तेवतिया को ऑपरेशन के बाद डॉक्टर्स की ऑब्जरवेशन में रखा गया है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -