महाराष्ट्र, राजस्थान और अहमदाबाद के बाद अब छत्तीसगढ़ में भी मीट पर लगाया 9 दिनों का बैन

रायपुर : महाराष्ट्र, राजस्थान और अहमदाबाद में मांस की बिक्री पर बैन लगने के बाद अब छत्तीसगढ़ सरकार ने मांस की बिक्री पर 9 दिनों का बैन लगाया है. जैन समुदाय के पर्युषण पर्व और गणेश चतुर्थी को देखते हुए छत्तीसगढ़ में 10 से 18 सितम्बर तक पशुवध और मांस विक्रय पर प्रतिबंध लगाया गया है. इसके लिए राज्य शासन के नगरीय प्रशासन विभाग ने सभी जिलों के कलेक्टरों को निर्देश दे दिए हैं. सरकार ने 7 सितम्बर 2002 के एक आदेश को आधार बनाते हुए यह आर्डर निकाला है कि विशिष्ट अवसरों के अलावा जैन पर्युषण पर्व के अवसर पर मांस बेचने वाले सभी दुकानों को बंद रखा जाए.

गौरतलब है कि इस मामले को लेकर महाराष्ट्र के बाद प्रदेश में भी विवाद शुरू हो गया है. इस व्यवसाय से जुड़े लोगों ने विरोध में हाई कोर्ट में याचिका दायर कर दी है जिस पर 12 सितम्बर को बहस होगी. पिछले साल भी नगर निगम ने पर्युषण पर्व और गणेश चतुर्थी पर मांस बिक्री पर बैन लगाया था. जिसके विरोध में छत्तीसगढ़ पोल्ट्री असोसिएशन ने इस मामले में पिछली बार भी हाईकोर्ट में याचिका लगाई थी और स्टे लेकर आए थे. इस बार असोसिएशन के अधिकारियों का कहना है कि हाईकोर्ट के स्टे के बाद दोबारा बैन लगाना कोर्ट की अवमानना है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -