बदहाल हुई दिल्ली, MCD में हड़ताल से बुरे हुए हालात

नई दिल्ली : एमसीडी कर्मचारियों का आक्रोश तेज़ होता जा रहा है। दिल्ली के निवासियों को इसके चलते परेशानियों का अनुभव हो सकता है। दरअसल नगर निगम के कर्मचारी अभी भी हड़ताल पर हैं। जिसके कारण शहर में कचरा प्रबंधन व्यवस्था बदहाल हो गई है। दिल्ली नगर निगम के कर्मचारी समय पर वेतन न मिलने के चलते मुश्किलों का अनुभव कर रहे हैं। दिल्ली के हालात बिगड़ने के पूरे अनुमान हैं।

सरकार द्वारा कचरा प्रबंधन और साफ - सफाई के कार्य में लोकनिर्माण विभाग को जिम्मेदारी सौंप दी गई है। उल्लेखनीय है कि एमसीडी के कर्मचारियों ने समय पर वेतन दिए जाने और तीनों नगर निगम इकाईयों के एक ही इकाई में विलय को लेकर मांग की थी। जिसे लेकर आंदोलनकारियों ने उपमुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया के आवास पर प्रदर्शन किया तो फिर विधानसभा अध्यक्ष के निवास के बाहर भी उन्होंने प्रदर्शन किया।

एमसीडी द्वारा फंड की कमी का हवाला देते हुए टोल टैक्स बढ़ाने की जानकारी दी। इस दौरान कहा गया कि यह कर 7 प्रतिशत से लेकर 66 प्रतिशत तक आरोपित किया जा सकता है। इस तरह की नई दरें 1 फरवरी अर्थात् सोमवार से लागू की जाऐंगी। एमसीडी के लगभग 1.5 लाख कर्मचारी बुधवार से हड़ताल पर हैं। उन्होंने चेतावनी दी कि मांगे न मानी जाने पर 1 फरवरी से बेमियादी हड़ताल की जा सकती है। माना जा रहा है कि एमसीडी के शिक्षक भी इस तरह की हड़ताल में शामिल होकर अपनी मांगें सामने रख सकते हैं। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -