आजमगढ़ उपचुनाव में हार से आहत हुईं मायावती, बसपा कार्यकर्ताओं से की यह अपील

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में हुए लोकसभा उपचुनाव में शिकस्त के बाद बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो और पूर्व सीएम मायावती ने कहा है कि आजमगढ़ की तरह 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव में विशेष समुदाय को गुमराह होने से बचाना है। कर्यकर्ता अभी से इस काम में लग जाएं।

बसपा सुप्रीमो मायावती ने सोमवार को ट्वीट करते हुए लिखा कि, पार्टी के सभी छोटे-बड़े कार्यकर्ताओं, पदाधिकारियों और पार्टी उम्मीदवार शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली आदि ने आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव जिस संघर्ष व दिलेरी के साथ लड़ा है, उसे आगे 2024 लोकसभा चुनाव तक जारी रखने के संकल्प के तहत् चुनावी मुस्तैदी यथावत बनाये रखना भी जरूरी है। मायावती ने आगे लिखा कि केवल आज़मगढ़ ही नहीं बल्कि बसपा की पूरे उत्तर प्रदेश में 2024 लोकसभा चुनाव के लिए ज़मीनी तैयारी को वोट में बदलने हेतु भी संघर्ष व प्रयास निरंतर जारी रखना है। इस कड़ी में एक समुदाय विशेष को आगे होने वाले सभी चुनावों में गुमराह होने से बचाना भी बहुत ज़रूरी है।

बता दें कि उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ लोकसभा सीट के उपचुनाव में भाजपा प्रत्याशी और भोजपुरी फिल्मों के सुपर हीरो दिनेश लाल यादव निरहुआ ने रविवार को समाजवादी पार्टी (सपा) उम्मीदवार धर्मेंद्र यादव को हराया है। वहीं, बसपा तीसरे पायदान पर रही, लेकिन उसके उम्मीदवार शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली को 266000 से अधिक वोट हासिल हुए।

1000 करोड़ के घोटाले में संजय राउत को ED का समन, पहले से जेल में हैं नवाब मलिक और देशमुख

सुप्रीम कोर्ट तक आई महाराष्ट्र की सियासी लड़ाई.., शिंदे गुट ने दाखिल की याचिका

1 जुलाई से पंजाब में 300 यूनिट मुफ्त बिजली.., भगवंत मान सरकार ने पूरा किया चुनावी वादा

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -