केंद्र ने नहीं किया वादा पूरा, मायावती ने की आलोचना

लखनऊ : उत्तरप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने केंद्र सरकार द्वारा 500 रूपए और 1000 रूपए के नोट बंद करने के निर्णय की आलोचना की और कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि उन्होंने देश के लिए अपना घर-परिवार और सबकुछ छोड़ दिया है लेकिन वे इस तरह के निर्णय क्यों ले रहे हैं जिसके कारण लोगों को परेशानियां हो रही हैं। उत्तरप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जो वादा किया था आखिर उसका क्या हुआ।

उत्तरप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती द्वारा कहा गया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वादो  का आखिर क्या हुआ जिसमें विदेशों से काला धन लाने को लेकर बात कही गई थी। आखिर ईमानदार को ही क्यों पीसा जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भ्रष्टाचार को समाप्त करने का वादा किया था मगर अभी तक भ्रष्टाचार समाप्त नहीं हुआ है। आखिर सरकार ने काले धन को व्हाईट मनी के दायरे में लाने के लिए जो नियम बनाए थे उसके तहत 66 हजार करोड़ रूपए जमा करवाने वालों के नाम अभी तक सामने नहीं लाए गए हैं।

आखिर ऐसा क्यों किया गया है। सरकार ने तो वादा किया था कि लोगों के खातों से 15 लाख रूपए से 20 लाख रूपए तक जमा हो जाऐंगे। मगर अब तक इस मामले में कुछ भी नहीं हुआ। आखिर सरकार ने अपना वायदा ढाई साल में भी पूरा नहीं किया। मायावती ने कहा कि नोट बंद करने से आम जनता परेशान हो रही है। इस निर्णय से किसान, मजदूर और अन्य गरीबों पर असर हो रहा है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -