लोकसभा चुनाव: मायावती ने खेला जाति कार्ड, मुस्लिम मतदाताओं से की ये अपील

लोकसभा चुनाव: मायावती ने खेला जाति कार्ड, मुस्लिम मतदाताओं से की ये अपील

कोलकाता: पश्चिम उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा-रालोद गठबंधन को मुस्लिम मतों में सेंधमारी का डर सता रहा है. यही कारण है कि सहारनपुर के देवबंद में गठबंधन की संयुक्त रैली में बसपा सुप्रीमो मायावती ने मुस्लिमों को बार-बार सतर्क करते हुए कहा है कि किसी भी सूरत में अपने वोट को बंटने नहीं देना. कांग्रेस इस लायक नहीं है कि वो भाजपा को चुनौती दे सके, जबकि महागठबंधन के पास सशक्त आधार है. ऐसे में अपने वोटों को बाँटने मत देना और एकजुट होकर गठबंधन के प्रत्याशी के पक्ष में वोट करना.

आप-कांग्रेस गठबंधन पर विश्वास का कटाक्ष, शेयर किया 8 साल पुराना वीडियो

मायावती ने कहा है कि पश्चिम यूपी के सहारनपुर, मेरठ और बरेली मंडल में मुस्लिम समाज की तादाद काफी अधिक हैं. ऐसे में मुस्लिम समाज से कहना है कि कांग्रेस इस लायक नहीं है कि वो भाजपा को चुनौती भी दे सके. ये बात कांग्रेस भी जानती है, किन्तु वो ये मानकर चल रही है कि कांग्रेस न जीते तो गठबंधन भी न जीत पाए . ऐसे मंसूबों को सफल नहीं होने देना है.

आतंक के खिलाफ इराक को बड़ी सफलता, ISIS के प्रमुख नेता को किया ढेर

मायावती ने कहा है कि सहारनपुर लोकसभा सीट पर बसपा ने बहुत पहले ही अपने प्रत्याशी के नाम का ऐलान कर दिया था. जबकि कांग्रेस की तरफ से किसी भी प्रत्याशी का नाम फाइनल नहीं था. ऐसे में कांग्रेस ने जब देखा कि बसपा प्रत्याशी मुस्लिम है तो उन्होंने भी मुस्लिम उम्मेद्वारा मैदान में उतार दिया है. सहारनपुर में कांग्रेस के पास कोई दूसरा वोट बैंक नहीं है. जबकि बसपा का अपना वोट बैंक है. अब तो सपा के साथ जाट वोट भी हमारे साथ मिल गए है. ऐसे में मुस्लिम किसी भी भ्रम में ना फंसकर अपने वोट को न बंटने दें, बल्कि बसपा प्रत्याशी हाजी फजलुर्रहान के समर्थन में वोट करें.

खबरें और भी:-

सेना की सुरक्षा को ताक पर रख बोली महबूबा, कहा- ये हमारा राज्य जहाँ चाहें जाएं..

इस बार भाजपा की मुख्य थीम होगी "एक बार फिर मोदी सरकार : अरुण जेटली

ओडिशा में गरजे शाह, कहा- सत्ता में आए तो घोटालेबाजों को डालेंगे जेल में...