मौनी अमावस्या के साथ सोमवती अमावस्या पर लगा श्रद्धालुओं का मेला

Feb 08 2016 03:01 PM
मौनी अमावस्या के साथ सोमवती अमावस्या पर लगा श्रद्धालुओं का मेला

नई दिल्ली : देशभर में मौनी अमावस्या को लेकर धार्मिक आयोजन हो रहे हैं। सोमवती अमावस्या का योग होने के कारण यह आयोजन और पवित्र हो गया है। इस अवसर पर तड़के से ही गंगा, नर्मदा, शिप्रा, यमुना, गोदावरी आदि पवित्र नदियों के तटों पर श्रद्धालुओं ने स्नान किया। इस दौरान माघ मेले में मौनी अमावस्या में शामिल होने हेतु इलाहाबाद में करीब 10 लाख लोग पहुंचे। इसके पूर्व मौनी और सोमवती अमावस्या 23 फरवरी 2012 को एक साथ आई थी।

एक बार फिर इस तरह का संयोग बनने से श्रद्धालुओं के लिए यह एक पवित्र धार्मिक अवसर बना। सोमवती अमावस्या पर श्रद्धालुओं ने नदियों में स्नान, दान कर पुण्यलाभ तो कमाया ही साथ ही शिव के मंदिरों और पवित्र मंदिरों के दर्शन किए। 

उल्लेखनीय है कि मौनी अमावस्या और गंगा नदी के स्नान का बड़ा महत्व है। पौराणिक मान्यता है कि गंगा नदी में इस दिन स्नान करने, अध्र्य देने, तर्पण करने और मौन व्रत रखने से समस्त पाप समाप्त हो जाते हैं। इलाहाबाद में प्रातः से ही स्नान करने वालों की काफी भीड़ यहां मौजूद है।

मिली जानकारी के अनुसार 10 लाख लोग गंगा नदी में स्नान करें और इस तरह से यह क्रम तड़के से दोपहर तक जारी रहा। मौनी अमावस्या पर श्रद्धालुओं ने पूजन कार्य भी करवाए इस दौरान साधु - संतों का आशीर्वाद भी लिया। सबसे ज़्यादा भीड़ गंगा नदी के तट पर रही। हरिद्वार और वाराणसी के घाटों पर श्रद्धालुओं ने स्नान, पूजन, अर्चन और दीपदान किया।