दिल्ली मरकज को लेकर सबसे बड़ा खुलासा, यहीं से चलता था मौलाना साद का खुद का 'चैनल'

नई दिल्ली: तबलीगी जमात का मुखिया मौलाना मोहम्मद साद पूरी दुनिया में इस्लाम के प्रचार और प्रसार में लगा रहता है. किन्तु इस बार निजामुद्दीन मरकज से धर्म का प्रचार नहीं, बल्कि पूरे देश में कोरोना का प्रसार हो गया. दिल्ली स्थित निजामुद्दीन मरकज 'महामारी का हैडक्वार्टर' बन गया. आरोप है कि दुनिया भर से हजारों की तादाद में निजामुद्दीन मरकज में आए जामतियों ने यहां से निकल कर पूरे देश में कोरोना का संक्रमण फैलाया. 

निजामुद्दीन के इसी मरकज से मौलाना साद अपनी हुकूमत चलाता है. यहीं से वह सरकार के खिलाफ लोगों के मन में जहर भरता है. निजामुद्दीन के 6 मंजिला मरकज से मौलाना साद पूरी दुनिया के मुसलमानों का अपनी सोच और अल्फाजों से ब्रेनवाश करने का प्रयास करता है. इतना ही नहीं लगभग 1100 गज में फैले इस मरकज में से मौलाना साद का यू ट्यूब चैनल 'दिल्ली मरकज' भी संचालित होता है. 

मरकज के बेसमेंट से मौलाना साद का यूट्यूब चैनल दिल्ली मरकज संचालित होता है. यह चैनल 1 जनवरी 2016 को शुरू किया गया था. दिल्ली मरकज यू ट्यूब चैनल की टीम में मौलाना साद के वो 4 करीबी लोग हैं. इनमें से एक की जिम्मेदारी साद के विचारों का ऑडियो रिकॉर्ड करना है. दूसरे शख्स का काम उसको म्यूजिक लगाकर एडिट करना, तीसरे का काम उसको यू ट्यूब चैनल दिल्ली मरकज और सोशल मीडिया पर पोस्ट करना, और चौथे व्यक्ति का काम होता है मरकज से संबंधित तमाम मेंबर्स को निजी तौर पर नए ऑडियो के पोस्ट की जानकारी देना.

​अमिताभ बच्चन से जुड़ा ओल्ड एज होम विवादों में आया, सामने आई चौकाने वाली वजह

अब मात्र एक रूपये में खरीदिए सोना ! अक्षय तृतीया पर Paytm ने निकाला धांसू ऑफर

ख़त्म होगी चीन की बादशाहत, कोरोना संकट के बाद 'मैन्युफैक्चरिंग हब' बनेगा भारत

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -