हस्तमैथुन से स्वास्थ्य पर कितना पड़ता है प्रभाव ?

हस्तमैथुन से स्वास्थ्य पर कितना पड़ता है प्रभाव ?

हस्तमैथुन सहवास का दूसरा विकल्प है. जिन लोगों को अपने पार्टनर के साथ सहवास करने का मौका नहीं मिला है या उसकी गैर-मौजूदगी में अपनी सेक्सी की तलप मिलाने के लिए लोग अक्सर हस्तमैथुन करते हैं. जो कि एक स्वाभाविक क्रिया है. हस्तमैथुन के बारे में लोगों को न जाने कितनी भ्रांतियां होती है. कुछ लोग हस्तमैथुन को स्वास्थ्य के लिए हानिकारक समझते हैं पर आज हम आपको बता दें कि हस्तमैथुन किसी भी प्रकार से आपके लिए हानिकारक नहीं है. 

उसी तरह हस्तमैथुन से भी कोई कमजोरी नहीं होती. इसकी वजह यह है कि सहवास के दौरान जो क्रिया पुरुष का प्राइवेट पार्ट, स्त्री के प्राइवेट पार्ट में करता है। वही क्रिया हस्तमैथुन के दौरान पुरुष का प्राइवेट पार्ट मुट्ठी में करता है. जिस तरह शब्द अलग-अलग हो सकते हैं लेकिन लिपि एक ही होती है, उसी तरह से सहवास में हकीकत होती है और हस्तमैथुन में हकीकत की कल्पना.

बता दें कि हस्तमैथुन से आपके शरीर में किसी भी प्रकार से कमजोरी नहीं आती है और न ही इससे आपका कौन कम होता है. अब शारीरिक की एनर्जी कुछ वक़्त के लिए डाउन होती है पर वह कुछ देर में फिर रिकवर हो जाती है. हस्तमैथुन लड़का और लड़कियां दोनों ही करते हैं. इसके दौरा आप चरमसुख का आनंद लेते हैं

हेल्दी लाइफ के लिए ज़रूरी है सेक्स में ऑर्गज़्म होना

इस विदेशी कंपनी ने पुरुष वीर्य से तैयार की फेस क्रीम

वीर्य के सेवन से जुड़े फायदे

?