मार्किट अपडेट : सेंसेक्स और निफ्टी आज बढ़त के साथ बंद हुए

उथल-पुथल भरे कारोबार में भारतीय बाजार के सूचकांक सोमवार को हरे निशान में बंद होने में कामयाब रहे और छह दिन की गिरावट को रोक दिया। शुक्रवार को, घरेलू सूचकांकों ने 2020 के बाद से अपने सबसे लंबे साप्ताहिक खोने वाले रन को दर्ज किया।

बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 180 अंक या 0.34 प्रतिशत की बढ़त के साथ 52,974 पर बंद हुआ, जबकि एनएसई का व्यापक निफ्टी 60 अंक या 0.38 प्रतिशत की बढ़त के साथ 15,842 पर बंद हुआ। आज के सत्र के दौरान सेंसेक्स में 796 अंकों के दायरे में उतार-चढ़ाव देखने को मिला। मिड और स्मॉल कैप शेयर मजबूती के साथ बंद हुए, निफ्टी मिडकैप 100 1.25 फीसदी और स्मॉल कैप इंडेक्स 1.12 फीसदी की बढ़त के साथ बंद हुए।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के 15 सेक्टर गेज सभी हरे रंग में समाप्त हुए। निफ्टी पीएसयू बैंक, निफ्टी ऑटो और निफ्टी फाइनेंशियल सर्विसेज के उप-सूचकांकों ने क्रमशः 2.91 प्रतिशत, 2.27 प्रतिशत और 1.32 प्रतिशत की बढ़त के साथ सूचकांक को पीछे छोड़ दिया। शेयर-दर-शेयर आधार पर आयशर मोटर्स सबसे ज्यादा 7.95 फीसदी बढ़कर 2,626 रुपये पर पहुंच गई। विजेताओं में अपोलो हॉस्पिटल्स, यूपीएल, एनटीपीसी और एसबीआई शामिल थे।

बीएसई पर, समग्र बाजार चौड़ाई सकारात्मक थी, जिसमें 2,236 शेयरों में वृद्धि हुई और 1,159 गिरावट आई।

बीएसई के 30 शेयरों वाले सूचकांक में एनटीपीसी, बजाज फाइनेंस, मारुति, एसबीआई, एचडीएफसी, कोटक महिंद्रा बैंक, एमएंडएम, इंडसइंड बैंक और एलएंडटी टॉप गेनर्स में शामिल रहे। वहीं अल्ट्राटेक सीमेंट, एशियन पेंट्स, आईटीसी, टीसीएस, डॉ रेड्डीज, एचसीएल टेक, नेस्ले इंडिया, इंफोसिस और टेक महिंद्रा लाल निशान में थे।

भारत की सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि दर 7.4 से 8.2 प्रतिशत के बीच रहने की उम्मीद: संजीव बजाज

एसबीआई इकोरैप : यूक्रेन युद्ध के कारणभरता की मुद्रास्फीति में 59 प्रतिशत की वृद्धि

उत्तर प्रदेश में स्थापित होगा ड्रोन एक्सीलेंस सेंटर

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -