बिमारी से परेशान होकर इस निर्देशक ने दी अपनी जान

हाल ही में खबरें थी कि भोजपुरी की एक्ट्रेस मनीषा राय की एक एक्सीडेंट के चलते मौत हो गई. उनकी इस मौत के कारण पूरा भोजपुरी फिल्म जगत शोक की लहर में डूब गया. अब एक और ऐसी खबर आई जिससे सुनने के बाद आपका मन भी दुखी हो जाएगा. मराठी फिल्मों के महान निर्माता कल्याण पडाल ने खुदखुशी कर ली है. कल्याण को अपनी फिल्म 'म्होरक्या' के लिए राष्ट्रिय पुरस्कार से सम्मानित किया जा चूका था.

अपने जीवन के आखिरी समय तक वह कैंसर से लड़ते रहे. बताया जा रहा है कि कल्याण ने अपने घर सोलापुर में ही फांसी लगाई थी. दो दिन पुरानी इस घटना को कल्याण के घरवालों ने सभी से छिपाकर रखा था. कैंसर के आखिर स्टेज पर होने के कारण, वह बड़ी ही मुश्किल दौर से गुज़र रहे थे. अपनी इस बिमारी से लड़ते-लड़ते कल्याण काफी परेशान हो चुके थे.

दो हफ्ते पहले जब एक समारोह के दौरान उनकी फिल्म को राष्ट्रिय पुरस्कार मिला, तब वे खुश तो नज़र आए लेकिन उनकी बिमारी ने उन्हें अंदर ही अंदर पूरी तरह खोखला कर दिया था. अपनी बिमारी के त्रस्त होकर कल्याण ने इस अहम फैसले का निर्णय लिया. सबसे चौंकाने वाली बात यह है कि जिस फिल्म के लिए कल्याण को राष्ट्रीय पुरस्कार मिला, वह अपनी इस फिल्म की रिलीज़ भी नहीं देख पाए. 38 साल की उम्र में ही कल्याण इस दुनिया को अलविदा कहकर चले गए.

बॉलीवुड और हॉलीवुड से जुडी चटपटी और मज़ेदार खबरे, फ़िल्मी स्टार की जिन्दगी से जुडी बातें, आपकी पसंदीदा सेलेब्रिटी की फ़ोटो, विडियो और खबरे पढ़े न्यूज़ ट्रैक पर

वरुण धवन से तंग आकर आलिया ने कही बड़ी बात

BirthDay Specail : आदित्य चोपड़ा के हाथ में पड़ते ही फिल्म हो जाती है ब्लॉकबस्टर

इसलिए हिंदी सिनेमा को साउथ इंडस्ट्री से पीछे मानती हैं तापसी पन्नू

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -