नक्सलियों ने सिर धड़ से अलग कर रास्ते में फेंकी तीन लाशे

गिरिडीह : एक बार फिर झारखण्ड में नक्सलियों का कहर देखने को मिला है । झारखंड बिहार के बॉर्डर पर नक्सलियों ने 3 लोगों की गला रेतकर हत्या कर दी। जानकरी के मुताबिक तीनों की पुलिस मुखबिर होने के आरोप में हत्या की गई है। घटना चकाई थाना के बिल्ली गांव की है। नक्सलियों ने यहां जनअदालत लगाई और इसके बाद तीनों को मौत के घाट उतार दिया। तीनों ही लाशों को नक्सली बीच रास्ते में फेंककर फरार हो गए।

मृतकों की पहचान टीपन मंडल, मुकेश राय और योगेन्द्र तुरी के रूप में की गई है। टीपन मंडल जमुई बिहार का निवासी है। ग्रामीणों के मुताबिक बीती देर रात नक्सली गांव में पहुंचे। यहां नक्सलियों ने तीनों को बुलाया और फिर गांव से कुछ दूर ले जाकर जनअदालत लगाई। यहां पुलिस मुखबिरी के आरोप में तीनों के सिर को नक्सलियों ने धड़ से अलग कर दिया। नक्सलियों ने घटनास्थल पर हाथों से लिखा पर्चा भी फेंका हैं। एक मृतक के टीशर्ट पर लाल रंग से लिखा है कि चिराग दा की हत्या का बदला लिया गया है। ?

बता दे कि नक्सली, कुछ दिनों पूर्व पुलिस एनकाउंटर में नक्सलियों के जोनल कमांडर चिराग दा के मारे जाने में भी इन तीनों को आरोपी मान रहे थे। रविवार की सुबह मौके पर पुलिस पहुंची और शवों को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया गया। एसपी जयंत कांत जमुई के मुताबिक नक्सलियों द्वारा हत्या की गई है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। हत्या के कारणों का फिलहाल पता नहीं चल सका है। घटनास्थल पर कुछ नक्सली पोस्टर भी मिले हैं।

Most Popular

- Sponsored Advert -