मेनका का पैग़ाम, बॉलीवुड के नाम

नई दिल्ली : विदेशी मीटू मूवमेंट से प्रेरणा लेकर केंद्रीय महिला एवं बाल कल्याण मंत्री मेनका गांधी ने तमाम बॉलीवुड के निर्माताओं को पत्र लिखकर कार्यस्थल पर सेक्सुअल हैरासमेंट एक्ट 2013 के नियमों का पालन करने की अपील की है. चिट्ठी भेजने का मकसद लोगों को यौन उत्पीड़न से सुरक्षित बनाना है.

उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों विदेशी मीटू मूवमेंट से प्रेरित होकर केंद्रीय महिला एवं बाल कल्याण मंत्री मेनका गांधी ने बॉलीवुड के निर्माताओं को उनके कार्य स्थल पर लोगों को यौन उत्पीड़न से सुरक्षित बचाने के लिए चिट्ठी लिखकर नियमों का पालन करने को कहा है. यह चिट्ठी सभी प्रोडक्शन हाउस  को भेजी गई है .

बता दें कि पत्र में लिखा है कि इन संस्थानों के प्रमुख होने के नाते आप भी कार्यस्थल पर महिलाओं की सुरक्षा के लिए जिम्मेदार हैं. कार्यस्थल पर सभी स्थायी व अस्थायी कर्मचारियों को सुरक्षा दी जाए. इस आदेश में यौन उत्पीड़न का भी खुलासा किया गया है, तदनुसार लोगों को छूना, लोगों से काम के लिए संबंध बनाने के लिए कहना, सेक्सुअल टिप्पणी करना, पोर्न फिल्म दिखाना और आपत्तिजनक शब्द कहना यौन उत्पीड़न की श्रेणी में आता है. मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि ऐसा ही पत्र फिक्की व सीआईआई को भी लिखा था.जल्द ही देश की और भी फिल्म इंडस्ट्री को भी यह पत्र भेजा जाएगा.

यह भी देखें

यौन उत्पीड़न के मुद्दे पर खुलकर बोली नेहा धूपिया

यौन शोषण की बात हुई तो हम कई एक्टर खो देंगे- ऋचा चड्ढा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -