आपस में भिड़े ममता बनर्जी के समर्थक, एक-दूसरे पर बरसाए बम

आपस में भिड़े ममता बनर्जी के समर्थक, एक-दूसरे पर बरसाए बम

कोलकाता: पुरे देश में सब जानते है कि पश्चिम बंगाल में कांग्रेस और वामपंथी दलों को पछाड़ कर तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष ममता बनर्जी मुख्यमंत्री पद पर काबिज हैं. ममता की तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता कितने ताकतवर और निडर है, इसका अंदाजा वर्धमान जिले में पंचायत चुनाव के दौरान देखने को मिला है. 

यूपी में पदयात्रा के जरिए बीजेपी का प्रचार प्लान शुरू

पंचायत चुनाव जीतने के लिए ममता के समर्थकों ने एक-दूसरे पर हमला किया है, सामान्य मारपीट नहीं बल्कि एक दूसरे पर बम फेंके हैं.  इस बमबारी में 7 लोग बुरी तरह घायल हो गए हैं. ममता के समर्थक जब आपस में ही बमबारी कर रहे हैं तो कांग्रेस और वामपंथी दलों के कार्यकर्ताओं को मारने और भगाने के लिए उन्होंने क्या कुछ नहीं किया होगा, इसका भी अंदाजा आप खुद लगा सकते हैं.

राजस्थान विधानसभा चुनाव में लगी दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव पर

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता भी अब आवाज़ उठा रहे हैं कि पश्चिम बंगाल में उनके कार्यकर्ताओं की हत्याएं की जा रही हैं. विरोधियों के आरोपों के जवाब में ममता हमेशा यही कहती नज़र आती हैं कि कानून व्यवस्था की जिम्मेदारी राज्य सरकार की है. ममता ने अब तक राज्य में जो इंतजाम किए उसी का नतीजा है कि अब तृणमूल के कार्यकर्ता आपस में ही बमबारी कर रहे हैं. 

खबरें और भी:-

 

भाजपा को मिला 2017-18 में 1000 करोड़ का चंदा

तेलंगाना चुनाव: मुफ्त साड़ी योजना बन सकती है टीआरएस के लिए गेम चेंजर

मध्यप्रदेश चुनाव में भाजपा-कांग्रेस का साथ नहीं दे पाए जातिगत समीकरण