ममता की जीत की संभावना पर बंटी मिठाई, करूणा निधि - अम्मा में कांटे की टक्कर

कोलकाता : आखिरकार पांच राज्यों में चल रही चुनावी प्रक्रिया को लेकर आज महामंथन का दिन आ ही गया। पांच राज्यों में मतदाताओं द्वारा डाले गए मतों का परिणाम जब आज सुबह स्ट्रांग रूम्स में रखी ईवीएम खुलने के बाद सामने आने लगा तो राजनेताओं की धुकधुकी बढ़ गई। इस दौरान पश्चिम बंगाल, असम, तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी में हुए विधानसभा चुनाव की मतगणना प्रारंभ हो गई है। इसके पहले पोस्टल बैलेट की गणना होने लगी है। जिसके बाद ईवीएम से वोटों की गिनती प्रारंभ कर दी गई है।

हालात ये है कि वोटों की गिनती का शुरूआती आंकड़ा असम में बीजेपी को 38 सीटों की बढ़त पर रखे हुए है जबकि कांग्रेस के पास 21, एआईयूडीएफ क पास 8 और अन्य को 3 सीटों पर बढ़त मिल रही है। दूसरी ओर तमिलनाडु में करूणानिधि की डीएमके 63, एआईएडीएम के जो कि जयललिता के नेतृत्व वाली है वहां उसे 86 सीटों की बढ़त मिली है। जबकि यहां भाजपा का खाता नहीं खुल पाया है। केरल में कांग्रसे 51 सीट पर बढ़त के साथ दूसरे स्थान पर है जबकि यहां वाम मोर्चा को 76 सीटों की बढ़त मिल रही है।

भाजपा को 3 और अन्य को 8 सीट पर बढ़त मिली हुई है। जबकि पुदुचेरी में कांग्रेस 8, एआईएनआरसी 2, एआईएडीएमके 3 सीटों की बढ़त पर है। केरल में कांग्रेस की सरकार फिर से बनने के आसार बन रहे हैं जबकि असम में भाजपा को सर्वानंद सोनोवल और असम गण परिषद का साथ मिलने से अच्छे परिणाम की उम्मीद है जबकि तमिलनाडु में जयललिता और करूणानिधि के बीच कांटे की टक्कर लग रही है। पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी 130 सीटों पर है जबकि लेफट को 64 भाजपा को 4 और अन्य को 3 सीटों की बढ़त मिल रही है।

ममता बनर्जी की सत्ता में वापसी की प्रबल संभावना के चलते तृणमूल कार्यकर्ता उत्साहित हो गए हैं। यहां नाश्ते, चाय के साथ मिठाई भी बांटी जा रही है। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव के बाद क्षेत्रीय दलों का वर्चस्व इस चुनाव में साफ नज़र आ रहा है। भाजपा ने असम जैसे नॉर्थ ईस्ट में सफलता के पायदान चढ़े हैं ऐसे में लग रहा है कि यहां मोदी फेक्टर भी काफी सफल हुआ है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -