मल्हार राव होलकर को पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि

मल्हार राव होलकर का जन्म पुणे जिले के होल गांव में हुआ. 16 मार्च 1693 को. चरवाहों के परिवार में हुआ था.  इंदौर के होल्कर वंश का प्रवर्तक थे. मल्हार राव विशेष रूप से मध्य भारत में मालवा के पहले मराठा सूबेदार होने के लिये जाना जाते थे. यह होल्कर परिवार के पहले राजकुमार थे, जिन्होंने इंदौर के राज्य पर शासन किया था.

उन्होंने पेशवा बाजीराव प्रथम को कई युद्धों में विजय दिलवाई थी उनके वंशजों द्वारा शासित राज्य को 1948 ई. में भारतीय गणराज्य में सम्मिलित कर लिया गया था. मल्हारराव अपने मामा बाजीराव बरगल के घर पर तलोदा में पले बढ़े थे.1717 ई. में मल्हाराव का विवाह उनके चाचा की बेटी गौतमा बाई से हुआ था. उन्होंने बाना बाई साहिब होल्कर, द्वारका बाई साहिब होल्कर, हरकू बाई साहिब होल्कर के साथ भी विवाह किया था. वे प्रारम्भ में पेशवा बाजीराव प्रथम की सेवा में रहे थे.

पेशवा बाजीराव प्रथम की मल्हाराव ने काफ़ी दिनों तक सेवा की तथा कई विजय अभियानों में भी भाग लिया था. बाजीराव प्रथम ने उनकी स्वामी भक्ति के फलस्वरूप मध्य भारत में एक बड़ा क्षेत्र उसके शासन में कर दिया गया. मल्हारराव होल्कर के उत्तराधिकारी इस क्षेत्र का शासन बड़े दिनों तक करते रहे.मल्हार राव की मौत 20 मई 1766 में आलमपुर में हुई. उनकी एक ही औलाद थी.

बालकवि बैरागी के निधन पर शोक संवेदना व्यक्त करने के लिए मनासा पहुंचे दिग्विजय सिंह

यूपी में पलटा ट्रेक्टर, 8 दब कर मरे, 6 घायल

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी बैतूल में तेंदुपत्ता संग्राहक सम्मेलन में शामिल हुए

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -