जंगल में लगी आग का पता कर, बुझाने जायेगा 'मेक इन इंडिया' का ड्रोन

शिमला : जंगलों में हर साल लगती है जिसके कारण पर्यावरण को नुकसान पहुँचता है. प्रकृति को होने वाले इस नुकसान से कोई राहत नहीं मिली है अब तक. आग लगने से सब कुछ  नष्ट हो जाता है और जंगल इसी तरह खत्म भी हो रहे हैं जिसके कारण असर जीव जन्तुओ पर पड़ रहा है. इसी को देखते हुए मोदी सरकार की ‘मेक इन इंडिया योजना’ ने एक ड्रोन तैयार किया है जो प्राकृतिक संपदा को होने वाले नुकसान से बचाएगा. ये ड्रोन भारत में ही बना है जो जंगल की इस आग से निपटेगा. 

तेलंगाना चुनाव: टीआरएस की मुश्किलें बढ़ी, दो बड़े नेता हुए कांग्रेस में शामिल

बता दें, यह ड्रोन ‘मेक इन इंडिया योजना’ के तहत बना है और स्वचालित भी है. इतना ही नहीं ये ड्रोन अपने आप ही इस बात का पता भी लगा सकता है कि आगे कहाँ पर लगी है. इसका ट्रायल हिमाचल प्रदेश में शुरू हुआ है लेकिन उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, केरल समेत कई राज्य में इस पर काम किया जा रहा है. जानते हैं इस ड्रोन की खासियत.

यह फायर फाइटिंग ड्रोन (एफएफडी) ड्रोन हमारे देश में पहली बार इस्तेमाल में लाया जा था है, जबकि इसका इस्तेमाल अमेरिका, इंग्लैंड, जापान और चीन समेत कई देशों में पिछले कई साल से हो रहा है. 

देश के इस ड्रोन की खासियत ये है कि ये 30 से 40 मीटर ऊंचाई तक उड़ान भर सकता है. इतना ही जहां आग लगेगी उस जगह को अपने आप ही पहचान लेगा और वहां बुझाने पहुँच जायेगा. 

इसमें एक सिलेंडर लगा रहता है जो निर्धारित क्षेत्र में केमिकल बरसाकर आग को पूरी तरह से बुझा देता है. बता दें, 300 स्क्वायर फीट तक क्षेत्र में लगी आग के लिए एक एफएफडी काफी है. लेकिन अगर आग ज्यादा दूर फैली हो तो इसके लिए कई ड्रोन लग सकते हैं. 

करवाचौथ पर गहने दिलवाने का बोल रही थी पत्नी, नहीं माना पति और कर दिया यह काम

दक्षिण भारत की श्री साई एयरोटेक इनोवेशन देश में इस ड्रोन को बनाने वाली इकलौती कंपनी है. यह एक स्टार्ट-अप है की तरह है जिसे जुप्पा नाम भी दिया जा रहा है. वहीं कंपनी के निदेशक वेंकलेश साई के अनुसार, ड्रोन के लिए हिमाचल प्रदेश सरकार करार करने जा रही है. इसक ट्रायल मंडी जिले में शुरू होने के बाद हिमाचल में इसका इस्तेमाल किया जा सकेगा. उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब और हरियाणा समेत कई राज्यों ने इस तकनीक के प्रयोग के लिए सकारात्मक रुख अपनाया है वहीं केंद्र सरकार ने हाल ही में देश में ड्रोन उड़ाने की मंजूरी प्रदान की है.

खबरें और भी...

राजस्थान चुनाव: 7 दलों का गठबंधन लोकतंत्रिक मोर्चा, सभी 200 सीटों पर उतारेगा उम्मीदवार

बीजेपी के लिए आसान नहीं होगा यहां से जीत पाना, 41 साल से है जीत की दरकार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -