मेक इन इंडिया को आगे बढ़ाना है : जेटली कुछ सालों में द्विपक्षीय व्यापार 100 से 500 अरब डॉलर : जेटली

मेक इन इंडिया को आगे बढ़ाना है : जेटली
कुछ सालों में द्विपक्षीय व्यापार 100 से 500 अरब डॉलर : जेटली

नई दिल्ली : मेक इन इंडिया के तहत भारत ने व्यापार करने के लिए इंडिया के द्वार खोल दिए है और इसी मामले में अब वित्त मंत्री अरुण जेटली ने यह कहा है कि भारत ने काम के लिए अपने रक्षा क्षेत्र को खोल दिया है. इसके तहत उन्होंने यह भी उम्मीद जताई है कि भारत में जल्द ही कई उत्पादों के विनिर्माण का काम शुरू कर दिया जाना है, और इसके जरिये हमें "मेक इन इंडिया" प्रोजेक्ट को भी काफी आगे तक ले जाना है.

साथ ही आपको यह भी बता दे कि जेटली ने ये सभी निर्देश 11वीं इंडो-यूएस इकोनॉमिक समिट को सम्बोधित करने के दौरान दिए है. साथ ही वित्त मंत्री ने यह भी कहा है कि हम भारत और अमेरिका के साथ द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने को लेकर इच्‍छुक है. और इसके लिए जल्द ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका का दौरा भी कर सकते है. इसके साथ ही जेटली ने यह भी कहा है कि अभी हमें भारत में बहुत से बदलाव करने की जरुरत है.

इसके अलावा वित्त मंत्री का यह भी कहना है कि भारत और अमेरिका के बीच यह द्विपक्षीय व्‍यापार कुछ ही सालो में 100 अरब डालर से 500 अरब डॉलर तक पहुँचाने का लक्ष्य रखा गया है. साथ ही जेटली ने यह उम्मीद भी जताई है कि अमेरिका से कई बड़े बड़े निवेशक आने वाले समय में यहाँ बुनियादी ढांचे और स्‍वच्‍छ ऊर्जा के क्षेत्र में निवेश करेंगे.