+

हॉकी के जादूगर को गुजरे बीता एक और साल, पर थम नहीं रही भारत रत्न दिए जाने की आवाज

हॉकी के जादूगर को गुजरे बीता एक और साल, पर थम नहीं रही भारत रत्न दिए जाने की आवाज

हॉकी खेल के जादूगर कहे जाने वाले मेजर ध्यानचंद को दुनिया से विदा हुए एक और साल बीत गया. मंगलवार को दद्दा का देहांत हुए 40 साल जरूर हो गए, लेकिन एक आवाज है जो थमने का नाम ही नहीं ले रही. ध्यानचंद को देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से नवाजे जाने की आवाज. यह बात अलग है यूपीए सरकार के बाद एनडीए सरकार भी इस आवाज पर गौर नहीं कर रही है. ध्यानचंद को भारत रत्न दिए जाने का अभियान सोशल मीडिया पर जहां परवान चढ़ रहा है, वहीं यह मांग एक बार फिर संसद में रखने का बीड़ा उठा लिया गया है. फेसबुक दद्दा को यह सम्मान दिलाए जाने के अभियान में बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली समेत दिग्गज हॉकी खिलाड़ी अपने वीडियो अपलोड कर रहे हैं. वहीं अमरावती से सांसद नवनीत कौर राणा ने दद्दा को भारत रत्न दिए जाने की मांग संसद में रखने का फैसला लिया है.

कब खत्म होगा अभियानों का सिलसिला: सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ध्यानचंद के पुत्र और जाने-माने हॉकी खिलाड़ी अशोक कुमार को खुशी है कि उनके पिता के लिए लोग बढ़-चढ़कर अभियान चला रहे हैं, लेकिन दुख इस बात का है कि पिता को उनका हक दिलाने के लिए अभियान चल रहा है. दद्दा को सच्ची श्रद्धांजलि तब मिलेगी जब इन अभियानों का सिलसिला खत्म होगा और उन्हें उनका हक मिलेगा. नवनीत कौर राणा ने एक रिपोर्ट में खुलासा किया कि जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मन की बात में दद्दा की इतनी तारीफ कर चुके हैं तो भारत रत्न दिए जाने के पीछे और कोई कारण नहीं रह जाता है. वह चाहती हैं कि उन्हें यह सम्मान मिले और इसके लिए वह लोकसभा में आवाज उठाने जा रही हैं.

भुवनेश्वर के प्रतीक ने छेड़ा डिजिटल अभियान: वहीं इस बात का पता चला है कि बात 2016 की है, दिलीप टिर्की ने दद्दा को भारत रत्न दिए जाने के लिए जंतर मंतर तक मार्च निकाला था. इस मार्च में भुवनेश्वर के प्रतीक कुमार मिश्रा भी शामिल हुए. प्रतीक को लगा कि मार्च को निकले तीन साल बीत गए लेकिन कुछ नहीं हुआ. उन्होंने इसके बाद फेसबुक पर डिजिटल अभियान छेडने का फैसला लिया. उनके इस अभियान में 10 हजार लोग जुड़ चुके हैं. इनमें सौरव गांगुली, हॉकी खिलाड़ी मीर रंजन नेगी, हरबिंदर सिंह, समीर दाद, विनीत कुमार के अलावा कई जानी मानी हस्तियां हैं. प्रतीक खुलासा करते हैं कि दद्दा की पुण्य तिथि पर वह अब हस्ताक्षर अभियान छेडने जा रहे हैं.

रोनाल्डो बने इटली के सबसे बड़े फुटबॉलर, इस अवार्ड से हुए सम्मानित

शर्मनाक हार से बौखलाया ये दिग्गज खिलाड़ी, कहा- ऑस्ट्रलिया दौरे पर खेलने ना जाए पाकिस्तानी टीम

ऋषभ पंत को वीवीएस लक्ष्मण की नसीहत, कहा- प्रदर्शन करें या टीम से बाहर होने के लिए तैयार रहें