पंजाब: मुख्यमंत्री बनते ही चरणजीत सिंह चन्नी ने उठाया बड़ा कदम, कैप्टन के करीबी को हटाया

चंडीगढ़: चरणजीत चन्नी ने पंजाब का मुख्यमंत्री बनते ही एक बड़ा कदम उठाया है। जी दरअसल उन्होंने हाल ही में पहला बड़ा प्रशासनिक फेरबदल किया है। मिली जानकारी के तहत उन्होंने सीनियर आईएएस ऑफिसर हुस्न लाल को मुख्यमंत्री का प्रिंसिपल सेक्रेट्री नियुक्त किया है और IAS तेजवीर सिंह को उनके पद से हटा दिया है। वहीं स्पेशल प्रिंसिपल सेक्रेटरी के पद पर राहुल तिवारी को खड़ा कर दिया गया है। आप सभी को बता दें कि इस पद पर कैप्टन के करीबी गुरकीरत कृपाल सिंह थे लेकिन अब उन्हें हटा दिया गया। पंजाब की कमान अपने हाथ में लेने के बाद मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा, 'केंद्र सरकार को तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों को निरस्त करना चाहिए।'

वहीं शपथ ग्रहण करने के बाद अपने पहले संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने यह भी कहा कि, 'रेत माफिया के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी और सभी मुद्दों का समाधान होगा।' इसी के साथ उन्होंने कांग्रेस नेतृत्व की तरफ से तय 18 सूत्री कार्यक्रम का उल्लेख करते हुए कहा, 'वह राज्य के लोगों का भरोसा दिलाते हैं कि आने वाले दिनों में सभी मसलों का हल होगा।' इसके अलावा उन्होंने किसान आंदोलन का उल्लेख करते हुए कहा, 'केंद्र सरकार को केंद्रीय कृषि कानूनों को निरस्त करना चाहिए। राज्य की एकता, अखंडता और भाईचारे को कायम रखना है। हम सबको मिलकर रहना है। पंजाब को आगे बढ़ाना है।'

आप सभी को बता दें कि पंजाब में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता चरणजीत सिंह चन्नी ने आज यानी सोमवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। वह पंजाब में मुख्यमंत्री बनने वाले दलित समुदाय के पहले व्यक्ति हैं। जी हाँ, वह दलित सिख (रामदसिया सिख) समुदाय से आते हैं और अमरिंदर सरकार में तकनीकी शिक्षा मंत्री थे।

GHMC अधिकारी का बड़ा बयान, कहा- "पोलियों बूथ में 24 घंटे से काम रहे 3 सफाईकर्मी।।।"

दिल्ली: बेहतर सड़कों के लिए सड़क पर उतरे लोग, लगा 15 KM लंबा जाम

पर्म स्टेट यूनिवर्सिटी में गोलीबारी से मचा हाहाकार, 8 की मौत अन्य हुए घायल

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -