महेश नवमी कल, ऐसे करें महादेव को प्रसन्न

महेश नवमी कल, ऐसे करें महादेव को प्रसन्न
Share:

महेश नवमी का पावन पर्व प्रत्येक वर्ष ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को मनाया जाता है. वर्ष 2024 में यह तिथि 15 जून को पड़ी है. शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि 14 जून की रात 12 बजकर 05 मिनट से आरम्भ होकर 15 जून की देर रात 2 बजकर 34 मिनट तक रहेगी. उदयातिथि की मान्यता के मुताबिक, महेश नवमी 15 जून को मनाई जाएगी. इस दिन पूजा के लिए शुभ मुहूर्त प्रातः 7 बजकर 08 मिनट से 8 बजकर 53 मिनट तक रहेगा. इस शुभ मुहूर्त में भगवान शिव तथा माता पार्वती की पूजा करना अत्यंत लाभकारी होगा.

महेश नवमी पूजा विधि
महेश नवमी के दिन प्रातः उठकर स्नान करके साफ-सुथरे वस्त्र धारण कर व्रत का संकल्प लें.
फिर घर के मंदिर को अच्छे से साफ करें तथा गंगा जल का छिड़काव करें.
इसके बाद अब एक चौकी पर शिव परिवार की मूर्ति स्थापित करें.
शिव परिवार के साथ ही शिवलिंग की पूजा एवं अभिषेक करें.
इसके बाद शिव जी को फूल, गंगा जल, बेलपत्र और माता को श्रृंगार का सामान अर्पित करें.
अब शिव के समक्ष घी का दीपक जलाएं तथा शिव के मंत्रों का जाप करें.
महेश नवमी के दिन दान-पुण्य करना करने से भी शिव कृपा आपको प्राप्त होती है.
पूजा के अंत में आरती करके व्रत का पारण करें.

इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ है साल की सबसे बड़ी एकादशी, शुरू होंगे अच्छे दिन

14 जून को बन रहा गजकेसरी योग, इन राशि के लोगों की चमकेगी किस्मत

सुबह उठते ही ना करें ये 3 गलतियां, धनवान को भी कर देती है 'कंगाल'

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -