धोनी के गुरु देवल सहाय का निधन, इन्होने ही दिया था माही को पहला मौका

Nov 24 2020 02:14 PM
धोनी के गुरु देवल सहाय का निधन, इन्होने ही दिया था माही को पहला मौका

रांची: भारत को दो बार विश्व चैंपियन बनाने वाले पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के Mentor देवल सहाय (Deval Sahay) का मंगलवार को रांची के एक अस्पताल में देहांत हो गया। सहाय को रांची में पहली टर्फ पिच तैयार करने का श्रेय दिया जाता है। वह 73 वर्ष के थे। उनके परिवार में पत्नी, एक बेटी और एक बेटा हैं। सहाय की बेटी मीनाक्षी, जो अमेरिका में रहती हैं और फिलहाल रांची में हैं।

सहाय का पहला नाम देवब्रत था, किन्तु लोग उन्हें देवल बुलाते थे। उन्हें सांस लेने में समस्या के कारण अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उन्हें नौ अक्टूबर को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया था। सहाय के बेटे अभिनव आकाश सहाय ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि, "घर पर लगभग 10 दिन बिताने के बाद, उन्हें फिर से एक अस्पताल में एडमिट कराया गया था, जहां उन्हें जटिलताएं पैदा हो गई थीं और आज तड़के लगभग 3 बजे रांची में उनका निधन हो गया।"

इलेक्ट्रिकल इंजीनियर देवल सहाय, रांची में पहली टर्फ पिच तैयार करने में सहायक थे। मेकॉन में, जहां वे प्रमुख इंजीनियर थे, और इसके बाद सेंट्रल कोलफील्ड्स लिमिटेड में थे, जहां से वे निदेशक (कार्मिक) के रूप में रिटायर हुए। धोनी के पिता ने मेकॉन में भी कार्य किया था। जब वह CCL में थे, सहाय ने एक युवा धोनी को वजीफे पर रखा और उन्हें टर्फ पिचों पर खेलने का पहला मौका प्रदान किया। सहाय का किरदार धोनी की बॉयोपिक बॉलीवुड फिल्म 'एमएस धोनी : द अनटोल्ड स्टोरी' में भी दिखाया गया है।

कपिल देव ने चुनी KAPIL XI टीम, सचिन-धोनी सहित इन दिग्गजों को मिली जगह

रेसलिंग के सुपरस्टार The Undertaker ने WWE को कहा अलविदा, बोले- मेरा समय ख़त्म हुआ...

एशियाई बीच गेम्स 2020 में भाग लेने के लिए आगे आए 2 नए खिलाड़ी