मोहनदास से महात्मा बनने तक की दास्तां

Sep 29 2018 01:41 PM

भारत देश में महात्मा गांधी एक ऐसे महापुरूष थे, जिन्होंने भारत को आजाद कराने में बहुत सी लड़ाईयां लड़ी। वे हमेशा ही आम लोगों के लिए व उनके अधिकारों के लिए ब्रिटिश सरकार से लोहा लेते रहे। महात्मा गांधी का जन्म गुजरात के पोरबंदर में 2 अक्टूबर 1869 मे हुआ था, गांधी जी का पूरा नाम मोहनदास कर्मचंद गांधी था और इनकी पत्नि का नाम कस्तूरबा था। वहीं महात्मा गांधी की मृत्यु 30 जनवरी 1948 में हुई थी जब वे 78 वर्ष के थे। 

पीएम मोदी के जन्मदिन से दो दिन पहले, 15 सितम्बर से शुरू होगा 'स्वच्छता ही सेवा' आंदोलन

महात्मा गांधी मूल रूप से भारतीय राष्ट्रीयता रखते थे और उन्हें  मुख्य रूप से राष्ट्रपिता के नाम से संबोधित किया जाता है। इसके अलावा लोग उन्हें बापू, गांधी जी, महात्मा आदि भी बुलाते हैं। गांधी जी ने अपनी प्रारंभिक पढ़ाई करके लंदन यूनिवर्सिटी में बेरिस्टर की पढ़ाई की, जिसके बाद उन्होंने भारत में अंग्रेजों के खिलाफ कई आंदोलन किए । 

आज से शुरू हुआ पर्युषण महापर्व, ये है महत्व

 

महात्मा गांधी के जीवन पर यदि प्रकाश डाला जाए, तो बता दें कि गांधी जी का जीवन बहुत ही संघर्षमय रहा है। उन्होंने अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ शांतिपूर्ण ढ़ग से ही कई आंदोलन किए हैं। इनके मुख्य आंदोलनों में जो आंदोलन हुए उनमें प्रमुख रूप से सत्याग्रह, असहयोग और अहिंसा के लिए चलाए गए आंदोलन थे, वे भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में एक अहम भूमिका में थे।

गांधी जी ने अपने जीवन में सत्य और अहिंसा के मार्ग पर चलकर ही अपने जीवन में सभी काम किए हैं, उन्होंने जीवन में अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए अपनी स्वयं की गल्तियों और खुद पर प्रयोग करते हुए सीखने की कोशिश की। महात्मा गांधी ने अपने संपूर्ण जीवन काल में दूसरों की हर संभव मदद करते हुए उनकी सहायता की है।  

 

खबरें और भी

क्या महात्मा गांधी देशभक्त भगत सिंह को फांसी से बचा सकते थे

आप इस विधि से कर सकते हैं दुर्गासप्तशती का पाठ

अमेरिका में 6 हज़ार डॉलर में नीलाम हुआ बापू का पत्र