इस महाशिवरात्रि पर राशि के अनुसार करें यह उपाय, होगी भोले बाबा की कृपा

Feb 15 2020 04:20 PM
इस महाशिवरात्रि पर राशि के अनुसार करें यह उपाय, होगी भोले बाबा की कृपा

आप सभी जानते ही हैं कि महाशिवरात्रि का पर्व हर साल मनाया जाता है और इस साल यह पर्व 21 फरवरी को है। ऐसे में इस दिन भगवान शिव की आराधना से भक्तों के सारे पाप और संकट दूर हो जाते हैं। कहते हैं अगर कोई व्यक्ति इस दिन अपनी राशि के अनुसार, शिव की आराधना करे तो उसकी किस्मत खुल जाती है। तो आइए जानते हैं कि राशि के अनुसार कैसे करें शिव भगवान का पूजन।

मेष - मेष राशि के लोगों को महाशिवरात्रि के दिन शिव मंदिर में जाकर दूध से शिव को स्नान कराएं और स्नान के बाद शिव जी को शमी के फूल और पत्तियां चढ़ाएं। इसी के साथ 'ह्रीं ॐ नमः शिवाय ह्रीं' का जाप करें।

वृषभ- इस राशि के व्यक्तियों को किसी भी शिवलिंग की पूजा गंगाजल से करना चाहिए और शिवलिंग पर आक का फूल और पत्ता चढ़ाएं। इसके बाद 'ॐ नमः शिवाय' मंत्र का जप करें।


मिथुन - इस राशि के लोगों को शिवलिंग को दूध में शहद मिलाकर स्नान करवाना चाहिए और बिल्वपत्र एवं शमी के पत्ते चढ़ाएं। इसी के साथ 'ॐ नमो भगवते रूद्राय' मंत्र का जाप करें।

कर्क - इस राशि वाले महाशिवरात्रि के दिन शिवलिंग को पंचामृत से स्नान कराएं। इसी के साथ अपामार्ग और विल्वपत्र चढ़ाएं और 'ॐ हौं जूं सः' मंत्र का जाप करें।
 
सिंह -
इस राशि के व्यक्ति शिवलिंग की पूजा गंगा जल से करें और सफेद कनेर का फूल चढ़ाएं। इसके बाद 'ॐ त्र्यंबकं यजामहे सुगंधि पुष्टिवर्धनम। उर्वारूकमिव बन्ध्नान्मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्।।' का जाप करें।

कन्या- इस राशि के लोग दूध में घी मिलाकर शिवलिंग को स्नान कराएं। अब इसके बाद पीला कनेर और शमी के पत्ते चढाएं। अब ॐ भगवते रूद्राय' मंत्र का यथासंभव जप करें।

तुला - इस राशि के लोग दूध में बताशा मिलाकर शिवलिंग को स्नान कराएं और आक का फूल शिव को अर्पित करें। मंत्र 'ॐ नमः शिवाय' का 108 बार जप करें। 

वृश्चिक राशि- इस राशि के लोग दूध और धान के लावा से शिव की पूजा करें और शिव को गेंदे का फूल, शमी एवं बेलपत्र चढाएं। इसी के साथ ह्रीं ॐ नमः शिवाय ह्रीं मंत्र का जाप करें।

धनु - इस राशि वाले व्यक्ति महाशिवरात्रि के दिन गंगाजल में केसर मिलाकर शिव को अर्पित करें। विल्वपत्र एवं पीला अथवा लाल कनेर शिवलिंग पर चढ़ाएं। इसके बाद ॐ तत्पुरूषाय विद्महे महादेवाय धीमहि। तन्नो रूद्रः प्रचोदयात।। इस मंत्र का जाप करें।

मकर- इस राशि के लोग गंगाजल में गुड़ मिलाकर शिव का जलाभिषेक करें। शिव को नीले का रंग फूल और धतूरा चढ़ाएं। अब 'ॐ नमः शिवाय' मंत्र का 5 माला जप करें।

कुंभ - इस राशि वालों को किसी शिवालय में जाकर शिवलिंग को पंचामृत से स्नान करवाना चाहिए और इसके बाद कमल का फूल और धतूरा चढ़ाएं। अब 'ॐ नमः शिवाय' का जप करना चाहिए।

मीन - इस राशि वाले लोगों को महाशिवरात्रि के दिन दूध में केसर डालकर शिवलिंग को स्नान कराएं। स्नान के पश्चात शिव को गाय का घी और शहद अर्पित करें। कनेर का पीला फूल और विल्वपत्र शिव को चढ़ाएं। अब ॐ तत्पुरूषाय विद्महे महादेवाय धीमहि। तन्नो रूद्र प्रचोदयात।। का जाप करें।

Mahashivratri 2020: जानिये कब मनाया जायेगा महाशिवरात्रि, क्या रहेगा शुभ मुहूर्त

जानिए कब है महाशिवरात्रि और इसका महत्व

Mahashivratri 2020 : भगवान् शिव की आराधना के लिए 60 साल बाद आया है ऐसा खास योग