हेमा को आवंटित की गई पहले वाली जमीन छीन सकती है सरकार

Jan 30 2016 04:17 PM
हेमा को आवंटित की गई पहले वाली जमीन छीन सकती है सरकार

मुंबई : अभिनेत्री और बीजेपी की सांसद हेमा मालिनी को महाराष्ट्र सरकार ने कौड़ियों के भाव में जमीन आवंटित तो कर दी लेकिन अब इसका चौतरफा विरोध हो रहा है। इस पर महाराष्ट्र सरकार का कहना है कि उप नगरीय इलाके में पहले आवंटित की गई जमीन वापस ली जाएगी। अधिकारी हेमा को आवंटित की गई नई जमीन की कीमत पर फैसला नहीं कर पाए है।

हेमा को नाट्यविहार कलाकेंद्र चैरिटी ट्रस्ट के लिए अंधेरी के अंबोली में जो जमीन दी गई उसकी कीमत मात्र 70 हजार रुपए ली गई। इससे खफा कांग्रेस ने बीजेपी की सत्ता वाली सरकार पर हमला बोल दिया। इस पर बीजेपी ने अपना बचाव करते हुए कहा कि सांस्कृतिक संस्थाओं के लिए ऐसे आवंटन कांग्रेस के शासन में भी हुए है।

राजस्व मंत्री एकनाथ खड़से ने कहा कि राजस्व औऱ वन विभाग के अधिकारियों को वापस ली जाने वाली जमीन पर बगीचा नही बनाने देने का आदेश दिया गया है। मुंबई उप-नगरीय जिला कलक्टर शेखर चन्ने के मुताबिक, राजस्व अधिकारियों ने अब तक अंबोली वाली जमीन की कीमत नहीं आंकी है।

हेमा से केवल 70,000 रुपए क्यों लिए गए तो इसके जवाब में उन्होने कहा कि अंबोली में आवंटन का आदेश जारी कर दिया गया है। खड़से ने कहा कि ट्रस्ट ने 1996 में शास्त्रीय संगीत, कला, नृत्य और अन्य सांस्कृतिक उद्देश्यों के लिए जमीन की खातिर आवेदन किया था।

एक आरटीआई अर्जी के तहत मिले दस्तावेज के अनुसार मुंबई उपनगर जिला कलेक्टोरेट ने उपनगर ओशिवारा में स्थित जमीन अभिनेत्री को 35 रुपए प्रति वर्ग मीटर में आवंटित कर दी।