आखिर क्यों किया गया परमबीर का ट्रांसफर, अनिल देशमुख ने जताया दुःख

May 05 2021 10:58 AM
आखिर क्यों किया गया परमबीर का ट्रांसफर, अनिल देशमुख ने जताया दुःख

मुंबई: महाराष्ट्र में एंटीलिया मामले और मनसुख हीरेन हत्याकांड से शुरू हुई राजनीतिक उठापठक और भी बढ़ती जा रही हैं। महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख ने ट्वीट कर दावा किया है कि उन्होंने परमबीर सिंह का ट्रांसफर किया जा चुका है, इसलिए परमबीर सिंह ने उन पर इलज़ाम लगाए थे। जंहा इस बारें में उन्होंने ट्वीट कर लिखा, "एंटीलिया और मनसुख हिरेन के मृत्यु के केस  में परमबीर सिंह और सचिन वाज़े की संदेहास्पद भूमिका को देखते हुए सिंह का ट्रांसफर किया गया था जिसके उपरांत उन्होंने मेरे ऊपर झूठे इलज़ाम लगाए।"

जंहा इस बात का पता चला है कि अनिल देशमुख ने जिसके पूर्व मंगलवार को बॉम्बे हाईकोर्ट में एक याचिका भी दायर की है। इसमें उन्होंने CBI की तरफ से उनके खिलाफ दाखिल FIR को रद्द करने की मांग की जा रही। सीबीआई ने देशमुख के विरुद्ध प्रिवेंशन ऑफ करप्शन एक्ट और इंडियन पेनल कोड की धारा 120 बी के अंतर्गत मामला दर्ज किया है। यह केस ऐसे में दर्ज किए गए हैं जब मुंबई के पूर्व पुलिस कमीश्नर परमबीर सिंह ने अनिल देशमुख पर वसूली रैकेट चलाने का इलज़ाम लगाया था।

दरअसल, 17 मार्च को परमबीर सिंह को मुंबई पुलिस कमिश्नर के पद से हटाया जा चुका है। उन्हें होमगार्ड का डीजी बनाए जाए चुके थे। जिसके उपरांत परमबीर सिंह ने अनिल देशमुख पर सचिन वाजे से हर महीने 100 करोड़ रुपये की वसूली करने का इलज़ाम लगाया था। मार्च में ही मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह की एक चिट्ठी सामने आई थी, जो उन्होंने सीएम  उद्धव ठाकरे को लिखी थी। परमबीर सिंह ने इस चिट्ठी में दावा किया था कि अनिल देशमुख ने सचिन वाजे से हर महीने 100 करोड़ रुपये की मांग की थी, जो मुंबई के अलग-अलग क्षेत्रों से वसूले जाने थे। इस केस में खुद परमबीर सिंह ने सीबीआई जांच की मांग की थी। परमबीर सिंह के आरोपों के बाद देशमुख को गृह मंत्री के पद से इस्तीफा देना पड़ा था।

टी सीरीज के मालिक बनने से पहले जूस की दुकान में काम करते थे गुलशन कुमार, फिर इस तरह चमकी किस्मत

बंगाल में मौतों पर NDTV के पत्रकार का जश्न ! हिंसा की खबर पर लिखा- 'जैसी करनी वैसी भरनी'

इस महीने के लिए निर्धारित सभी ऑफलाइन परीक्षाओं को करें स्थगित: शिक्षा मंत्रालय