महाराष्ट्र हिंसा: चंद्रपुर, औरंगाबाद और सातारा में धारा 144 लागू, 10 भाजपा नेता गिरफ्तार

मुंबई: पड़ोसी मुल्क बांग्लादेश में मंदिरों को नुकसान पहुंचाए जाने और हिंदुओं पर हुए हमलों के विरोध में त्रिपुरा में विरोध प्रदर्शन हुआ था. इस बीच यह अफवाह फैला दी गई कि वहां मस्जिदों को जलाया गया है. इसका प्रभाव महाराष्ट्र के नांदेड़, मालेगांव, अमरावती जैसे जिलों में भड़की हिंसक घटनाओं के रूप में दिखा. इसके विरोध में भाजपा ने शनिवार को अमरावती बंद का आह्वान किया. अमरावती बंद के दौरान भी हिंसा भड़की.

इन घटनाओं के मद्देनज़र और किसी संभावित हिंसा की आशंका को देखते हुए महाराष्ट्र के चंद्रपुर, सातारा और औरंगाबाद में धारा 144 लागू कर दी गई है. वहीं, चंद्रपुर में 30 नवंबर तक और सातारा में 22 नवंबर तक धारा 144 लगाई गई है. इस दौरान  किसी भी प्रकार की सभा करने और मोर्चा निकालने पर रोक लगाई गई है. अकोला में भी आज शाम सात बजे से सुबह छह बजे तक का कर्फ्यू लागू कर दिया गया है.  यहाँ 4 से अधिक लोग एक जगह पर जमा नहीं हो सकेंगे.

अमरावती में भी कर्फ्यू को शनिवार तक के लिए आगे बढ़ा दिया गया है. किन्तु आवश्यक सामानों को लेने के लिए दोपहर 12 बजे से शाम 4 बजे तक रियायत दी गई है. इंटरनेट सेवा भी आज (17 नवंबर, बुधवार) तक के लिए बंद रखी गई है. भाजपा इसका विरोध कर रही है. इसी के तहत आज पूर्व राज्यमंत्री और MLA प्रवीण पोटे सहित बीजेपी के 10 नेता और कार्यकर्ता अरेस्ट हुए.

नए रिकॉर्ड की तरफ बढ़ रहा सोने-चांदी! कीमतों में आया भारी उछाल, जानिए आज का भाव

तेलंगाना की मनायर नदी में डूबे छह बच्चे

अबू धाबी ने देश में ऊर्जा को प्राप्त करने के लिए प्रतिबद्धता प्रदर्शित की

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -