जन्माष्टमी: दही-हांडी को मिला साहसिक खेल का दर्जा, 'गोविंदाओं' को मिलेगी सरकारी नौकरी

मुंबई: महाराष्ट्र में श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर अलग ही उत्साह रहता है। जनता के इसी उत्साह को राज्य की शिंदे सरकार ने अब दोगुना कर दिया है। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने दही-हांडी को साहसिक खेल का दर्जा देने का फैसला किया है और भाजपा-शिवसेना की सरकार इस बार गोविंदाओं को भी बड़ी सौगात देने की तैयारी में है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, महाराष्ट्र की शिंदे सरकार ने गुरुवार 18 अगस्त यानि जन्माष्टमी से एक दिन पहले पूरे राज्य को श्री कृष्ण जन्माष्टमी का अनमोल उपहार दिया है। 

सीएम शिंदे ने यह घोषणा की है कि अब दही-हांडी महोत्सव को भी साहसिक खेल का दर्जा मिलेगा। वहीं इसमें हिस्सा लेने वाले तमाम गोविंदाओं को भी सरकार की तरफ से विशेष मुआवजा और स्पोर्ट्स कोटा से सरकारी नौकरी का भी मौक़ा दिया जाएगा। आपको बता दें कि इसी मुद्दे पर आज विधानसभा में सीएम एकनाथ शिंदे ने कहा है कि, 'महाराष्ट्र सरकार ने दही हांडी उत्सव के लिए बनाए जाने वाले ह्यूमन पिरामिड को साहसिक खेल के तौर पर मान्यता देने का फैसला लिया है। इस मान्यता के साथ पर्व में शामिल होने वाले खिलाड़ी स्पोर्ट्स कोटा के तहत सरकारी नौकरियों के लिए आवेदन करने के पात्र हो जाएँगे।'

सीएम शिंदे ने आगे कहा कि ह्यूमन पिरामिड के निर्माण के दौरान किसी प्रतिभागी की दुर्भाग्यपूर्ण मृत्यु होने पर उसके परिवार वालों को राज्य सरकार की तरफ से मुआवजे के तौर पर 10 लाख रुपए दिए जाएंगे। इसके साथ ही गंभीर रूप से जख्मी होने वाले खिलाड़ी को सात लाख रुपए और फ्रैक्चर वाले खिलाड़ी को पाँच लाख रुपए प्रदान किए जाएँगे। उन्होंने आगे कहा कि, राज्य सरकार ‘गोविंदा’ (प्रतिभागियों) को चोट लगने की स्थिति में उनके उपचार का खर्च भी उठाएगी। दो साल की बंदिशों के बाद इस बार दही हांडी उत्सव को राज्य में बड़े स्तर पर मनाया जाएगा, क्योंकि सरकार ने सभी कोरोना संबंधी प्रतिबंधों को हटा लिया है।'

सत्येंद्र जैन के बाद अब मनीष सिसोदिया होंगे गिरफ्तार ? डिप्टी सीएम के घर पहुंची CBI की टीम

गांधी परिवार के वफादार 'कमलनाथ' को पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाएगी कांग्रेस ?

'निर्वाचन आयोग की बेईमानी के कारण यूपी चुनाव हारे हम..', अखिलेश यादव का बड़ा आरोप

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -