पांचवी पास 94 साल के इस सीईओ की कमाई जानकर हो जाएंगे हैरान

मुम्बई : किसी ने सच ही कहा है कि व्यक्ति में दृढ इच्छा शक्ति हो तो सफलता के शिखर तक पहुँचने में अल्प शिक्षा भी आड़े नहीं आती. यह साबित किया है 94 साल के पांचवी पास सीईओ ने जिसकी सालाना कमाई 21 करोड़ रुपए है.जी हाँ जिस शख्स के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं उनका चेहरा आपका जाना - पहचाना है क्योंकि टीवी पर अक्सर इन्हें विज्ञापन में पगड़ी पहने आशीर्वाद देते देखा जाता है.

ये हैं 'महाशियां दी हट्टी' (एमडीएच )मसाले वाले 94 वर्षीय धरमपाल गुलाटी, जिन्होंने 60 साल पहले एमडीएच शुरू किया था. उपभोक्ताओं को कम से कम कीमत में अच्छी गुणवत्ता का उत्पाद उपलब्ध करवाने का विचार रखने वाले धरमपाल गुलाटी अपने वेतन का 90 फीसद हिस्सा चैरिटी में देते हैं. गुलाटी को दादा जी या महाशयजी के नाम से भी जाना जाता है.

आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि पांचवीं पास इस शख्स ने बीते वित्तीय वर्ष में 21 करोड़ रुपए की कमाई की जो गोदरेज, हिंदुस्तान यूनिलीवर और आईटीसी की कमाई से भी ज्यादा है. इस कंपनी की 80 फीसद हिस्सेदारी गुलाटी के पास है.गुलाटी एक ऐसे मेहनती उद्यमी है जो कंपनी में सब कुछ ठीक-ठाक चले इसके लिए फैक्टरी, बाजार और डीलर्स का नियमित दौरा करते हैं.

ख़ास बात यह है कि 1919 में पाकिस्तान के सियालकोट में एक छोटी सी दुकान खोलने वाले पिता चुन्नीलाल के व्यवसाय को देश के विभाजन के बाद दिल्ली के करोलबाग आकर बसने वाले गुलाटी ने 1500 करोड़ रुपए के साम्राज्य में तब्दील कर दिया. गुलाटी के इस करोड़ों के साम्राज्य में मसाला कंपनी, करीब 20 स्कूल और एक अस्पताल शामिल है.एमडीएच के दुबई और लंदन में भी ऑफिस हैं. यह मसाला कंपनी लगभग 100 देशों को अपने उत्पाद निर्यात करती है.गुलाटी के बेटे भी कंपनी का हर कामकाज में हाथ बंटाते हैं, वहीं उनकी 6 बेटियां वितरण का काम देखतीहैं. कंपनी अपनी सफलता का श्रेय अपनी वितरण श्रृंखला को देती है.

सर्जिकल स्ट्राईक हुई तो पाकिस्तान देगा जवाब

नोटबन्दी से घटा भारत की विकास दर का अनुमान

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -