कुंभ में इस ख़ास वजह से स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी की मुद्रा में खड़े हैं महंत राधे पुरी

Feb 11 2019 06:00 PM
कुंभ में इस ख़ास वजह से स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी की मुद्रा में खड़े हैं महंत राधे पुरी

इस समय प्रयागराज संगम की रेती पर चल रहे प्रयाग कुंभ मेले में एक से बढ़कर एक चमत्कार देखने को मिल रहे हैं. ऐसे में अवधूत और तरह तरह के साधु यहां आने वाले श्रद्धालुओं के आकर्षण का केंद्र बने हैं और सभी को देखकर लोग चौक रहे हैं और हैरान हो रहे हैं. वैसे इनमें एक साधु ऐसा भी है, जो स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी की तरह आसमान की तरफ उंगली से इशारा करते हुए खड़े हैं जिन्हे देखने के बाद लोगों की नजरें उनपर से हट ही नहीं रही है.

जी हाँ, कहा जा रहा है कि उनका दावा है कि वे पिछले 8 साल से इसी मुद्रा में खड़े हैं और साल 2011 से उनकी इस मुद्रा का उद्देश्य विश्व शांति है. जी हाँ, उन्होंने बताया कि यह एक तरह की तपस्या है और इसका मुख्य उद्देश्य पूरे विश्व में शांति सुनिश्चित करना और विश्व के सभी नागरिकों के कल्याण के लिए प्रार्थना करना है. उन साधू का नाम महंत राधे पूरी हैं.

उन्होंने जोर देकर कहा कि, ''जब तक संपूर्ण विश्व में शांति सुनिश्चित नहीं हो जाएगी तब तक वे अपनी तपस्या जारी रखेंगे और यह एक तरह की अखंड तपस्या है. मैं इस मुद्रा में दिन और रात खड़ा रहता हूं.'' आप सभी को बता दें कि ऐसे ही कई साधू है जो प्रयागराज में आकर्षण का केंद्र बने हैं और सभी को हैरान परेशान कर रहे हैं.

प्रयागराज : 65 लाख से ज्यादा श्रद्धालुओं ने किया अब तक शाही स्नान

कुम्भ 2019: अब घाटों पर नहीं खींच सकेंगे महिलाओं की तस्वीर, अदालत ने लगाया प्रतिबन्ध

मांग में सिंदूर लगाकर कुंभ में पाप धोने पहुंची राखी सावंत, कहा- ''पायलेट बाबा...'