चुनाव परिणाम से पहले ही 'महाजोत' को सेंधमारी का डर, जयपुर में छिपाए 18 उम्मीदवार

Apr 10 2021 10:13 AM
चुनाव परिणाम से पहले ही 'महाजोत' को सेंधमारी का डर, जयपुर में छिपाए 18 उम्मीदवार

जयपुर: कांग्रेस ने असम चुनावों के खत्म होते ही अपने गठबंधन 'महाजोत' के कम से कम 18 प्रत्याशियों को जयपुर में शिफ्ट कर दिया है। बता दें कि राजस्थान में इस समय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में कांग्रेस की सरकार है। दरअसल, कांग्रेस को इस बात का डर है कि 2 मई को मतगणना से पहले पार्टी के जीत दर्ज करने वाले संभावित उम्मीदवारों को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) प्रलोभन दे सकती है।

कांग्रेस को लगता है कि असम विधानसभा चुनाव में भाजपा इस दफा बहुमत के आंकड़ों से पीछे रह सकती है और पार्टी की नजर उनके गठबंधन वाले बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट और ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट के उन उम्मीदवारों पर है जिनके जीतने के आसार हैं। क्योंकि, BPF का एक प्रत्याशी चुनाव से पहले ही भाजपा में शामिल हो गया था और चुनाव से खुद को अलग कर लिया था। इसमें असम के मंत्री और भाजपा के दिग्गज नेता हिमंता बिस्वा सरमा का हाथ माना जा रहा है, जिन्हें लेकर कांग्रेस में सेंध लगने का भय है।

बता दें कि सरमा ने 126 सदस्यों वाली विधानसभा में से 100 सीटों को जीतने की संभावना जताई थी, मगर चुनाव बाद उन्होंने 84 सीटें जीतने की बात कही है। हालांकि, अगर दावों के अनुसार, भाजपा को सीटें मिल जाती है, तो सरकार में फिर से वापसी हो जाएगी। किन्तु, कांग्रेस का अनुमान है कि वो भाजपा से अधिक सीटें लेकर आएगी और लगभग दोनों पार्टियों के बीच 6 सीटों से कम का अंतर हो सकता है जो इस खेल को बिगाड़ सकता है।

पाकिस्तान ने आपातकालीन उपयोग के लिए चीन के SINOVAC वैक्सीन को दी मंजूरी

कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों संग सोनिया गांधी, राहुल भी रहेंगे मौजूद

जो बिडेन ने सुप्रीम कोर्ट के संभावित विस्तार का अध्ययन करने के लिए आयोग का किया गठन