ED की छापेमारी पर माफिया मुख़्तार अंसारी के भाई अफजाल ने दी ये सफाई

लखनऊ: 18 अगस्त की सुबह अंसारी बंधु और उनके करीबियों के लिए मुश्किलों से भरा रहा। जब सुबह-सबह अंसारी बंधु और उनके करीबी सोकर उठे, तो उसी समय लखनऊ प्रवर्तन निदेशालय (ED) की टीम उनके घरों पर पहुँच चुकी थी, और वह पूरी तरह से घरों में कैद हो गए। ED के अधिकारी सुबह 5 बजे से लेकर शाम 8 बजे तक तलाशी लेते रहे। छापेमारी की यह कार्रवाई जनपद में कुल 4 ठिकानों पर पूरे दिन चली। जिसमें सांसद अफजाल अंसारी और बाहुबली माफिया मुख्तार अंसारी का पैतृक घर मोहम्मदाबाद स्थित फ़ाटक भी शामिल रहा, जहां पर सुबह से ही कार्रवाई शुरू हो गई। 

इसके साथ ही अंसारी बंधुओं के करीबियों में गणेश मिश्रा जिनके रौजा स्थित आवास पर ED की कार्यवाही चली। विक्रम अग्रहरि जिनके मिश्र बाजार स्थित ठिकाने पर कार्रवाई हुई। इसके अलावा टाउन हॉल खान बस सर्विस के मालिक मुस्ताक खान के आवास पर भी जांच एजेंसी की कार्रवाई चली। यह कार्रवाई पूरे दिन लगभग 13 घंटा से अधिक चली। इस दौरान सभी स्थलों पर CRPF ने सुरक्षा के लिए मोर्चा संभाला हुआ था। किसी को भी CRPF के सुरक्षाकर्मियों द्वारा मौके पर फटकने नहीं दिया जा रहा था।

जांच एजेंसी द्वारा जांच की कार्यवाही पूर्ण कर लेने के बाद वापस जाने पर गाजीपुर के सांसद अफजाल अंसारी ने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि ED ही नहीं दुनिया की कोई भी जांच एजेंसी जांच कर ले, मेरा पाक साफ दामन है और पाक साफ ही रहेगा। जिस नियत और जिस इरादे से इस एजेंसी को लगाई गई है, हम लोग काफी छोटे कार्यकर्ता है, मगर हमारे पीछे भी ED लगाई गई है। ED की जैसे मर्जी हुई उसने पूरे घर की तलाशी ली, यदि कुछ होता था तो पहले पता चल जाता, क्योंकि उसके लिए मशीनें लाइ जाती गिनती करने के लिए।

'तिरंगा यात्रा' में किसने लगाए पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे ? वीडियो आया सामने, यूपी पुलिस लेगी एक्शन

अजमेर दरगाह हटाएगी मोदी सरकार, मुस्लिमों को निकालेंगे देश के बाहर.., क्या आपने देखी ये ख़बरें ?

सीमावर्ती इलाकों में बढ़ रही आबादी देश के लिए ख़तरा, अमित शाह हुए अलर्ट, होगा बड़ा एक्शन

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -