MP में नए वायरस ने दी दस्तक, बढ़ी डॉक्टर्स की चिंता

जबलपुर: मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस का कहर कम हो गया था लेकिन अब फिर से इसका कहर दिखने लगा है। वहीं इसके अलावा एक नए वायरस ने भी यहाँ दस्तक दे दी है। जी दरअसल जबलपुर में बीते कुछ दिनों में जिला अस्पताल और मेडिकल कॉलेज अस्पताल में बड़ी संख्या में बच्चे भर्ती हुए हैं, इन सभी को सांस लेने में परेशानी हो रही है। इस मामले में शिशु रोग विशेषज्ञ का कहना है कि वह आरएसवी यानी रेस्पिरेट्री सिन्सिशीयल वायरस की चपेट में आ गए हैं।

आपको बता दें कि यह वायरस खासतौर पर 2 साल तक के बच्चों पर अटैक कर रहा है। इसी के चलते बच्चों को सीने में इंफेक्शन हो जाता है और उसके बाद बच्चे को सांस लेने में तकलीफ होने लगती है। इस मामले में शिशु रोग विशेषज्ञों का कहना है कि यह वायरस मौसम में बदलाव के कारण बच्चों को अपना शिकार बनाता है। इस वायरस के चलते बच्चों में सर्दी-खांसी और फिर सांस की नली में सूजन की परेशानी होती है। इसी वजह से सांस लेने में परेशानी देखने को मिलती है। इसी के साथ कुछ केस में लूज मोशन और निमोनिया के लक्षण भी दिखते हैं। आपको बता दें कि RSV का खतरा सबसे ज्यादा दो महीने से लेकर 2 साल तक के बच्चों में देखा जा रहा है।

क्या है आरएसवी- जी दरअसल यह एक सांस की बीमारी है, जो दो साल तक के बच्चों में अक्सर देखी जाती है। सबसे अधिक लोगों के लिए ये वायरस नाक बहने और खांसी और सर्दी जैसी बीमारी का कारण बनता है। हालाँकि यह वायरस एक या दो हफ्ते में ठीक हो जाता है, लेकिन कोरोना के चलते इस साल इसने स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ा दी है। जबलपुर इस लिस्ट में सबसे आगे है जहाँ इसका बड़ी संख्या में बच्चे शिकार हो रहे हैं, और यह देखते हुए विभाग अलर्ट मोड पर है।

उपचुनाव: कार्यकर्ता के घर CM शिवराज ने गुजारी रात, सुबह बालकनी में किया योगा

उत्तरप्रदेश में अरविंद केजरीवाल के दौरे पर लोगों ने किया विरोध प्रदर्शन

अगर हिम्मत है तो मदरसा-कुरान पर फिल्में बनाओ: प्रज्ञा सिंह ठाकुर

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -