हिंदुस्तान की संस्कृति.., 'सुपरमॉम बाघिन' का अंतिम संस्कार, नमन करने जुटे लोग

इंदौर: हमारे देश की सभ्यता और संस्कारों के आकर्षण से अक्सर लोग लोग विश्व के इस प्राचीन देश की तरफ खींचे चले आते हैं। जो उन्हें हिंदुस्तान में देखने को मिलता है, उसे वे लोग अपने देश में ताउम्र नहीं देख पाते। मध्य प्रदेश के पेंच टाइगर रिजर्व में एक बाघिन को वहां की रानी कहा जाता था। उसका नाम था 'कॉलरवाली बाघिन', हाल ही में उसका निधन हो गया है। रविवार के दिन पूरे विधि विधान से उसका अंतिम संस्कार किया गया। टाइगर रिजर्व पार्क में इस सुपरमॉम बाघिन का अंतिम संस्कार किया गया।

 

इसकी तस्वीरें IFS परवीन कासवान ने अपने ट्विटर हैंडल पर पोस्ट की हैं। उन्होंने इसके कैप्शन में लिखा है कि, 'पेंच की कॉलरवाली बाघिन का अंतिम संस्कार किया गया। आपको भारत के अलावा ऐसा कहां देखने को मिलेगा।' बता दें कि पेंच की इस 'कॉलरवाली बाघिन' ने 29 शावकों को जन्म दिया था। जो कि अपने आप में एक रिकॉर्ड था। इसी वजह से उसे ‘सुपर टाइग्रेस मॉम’ भी कहा जाता था। सोशल मीडिया पर यूजर्स यह देखकर बेहद हैरान हुए कि आखिर एक टाइग्रेस का अंतिम संस्कार किया जा रहा है। एक यूजर ने लिखा कि ऐसे लग रहा है, मानो वो शांति से सो रही है।

इस बाघिन की आयु 17 वर्ष थी। वो बीते तीन-चार दिनों से बीमार चल रही थी, जिसके बाद उसकी मौत हो गई। अंतिम बार उसने जनवरी 2021 में 3 शावकों को जन्म दिया था। 2011 में वो इसलिए सुर्ख़ियों में थी क्योंकि उसने एक साथ पांच बच्चों को जन्म दिया था, यह बहुत ही रेयर देखने को मिलता है।

फ्रेंच नेशनल असेंबली ने वैक्सीन पास कानून अपनाया

हरियाणा में छाया रहेगा घना कोहरा, कई जिलों में शीतलहर का अलर्ट

'रष्ट्रीय ध्वज की बेअदबी बर्दाश्त नहीं..', सभी राज्यों को गृह मंत्रालय का सख्त निर्देश

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -