मध्य प्रदेश सरकार ने दूसरों राज्यों में फंसे मजदूरों के लिए लिया ये निर्णय

भोपाल: कोरोना वायरस पर काबू पाने के लिए लॉक डाउन को बढ़ाया गया है. वहीं लॉकडाउन बढ़ाए जाने के बाद दूसरे राज्यों में फंसे मध्य प्रदेश के मजदूरों के खातों में राज्य सरकार ने 1000 रुपये भेजने का निर्णय लिया है. इसकी जानकारी खुद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दी है. उन्होंने कहा, ' मध्य प्रदेश के कई मजदूर बाहर के राज्यों में फंसे हुए हैं. हमने दूसरे राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात कर उनके लिए रहने और भोजन की व्यवस्था करने के लिए कहा है. हम उनकी आवश्यकता को पूरी करने के लिए उनके खाते में 1,000 रुपये डालेंगे. वो जहां हैं वहां से ये पैसा निकाल पाएंगे.  

बता दें की शिवराज ने आगे कहा, 'चिंता करने की जरूरत नहीं, अगर जरूरत हुई तो हम आपको और पैसे भेजेंगे. हम आपके साथ खड़े हैं. मैं जनप्रतिनिधियों से अनुरोध करता हूं कि वे ऐसे सभी लोगों की सूची बनाएं और इसे मुख्यमंत्री कार्यालय या जिला कलेक्टर कार्यालय को भेजें. सूची मिलते ही हम उन्हें पैसा भेज देंगे. '

मालूम हो की देशव्यापी लॉकडाउन को तीन मई तक बढ़ाने की पीएम मोदी द्वारा घोषणा के बाद मुंबई और सूरत की सड़कों पर बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर इकट्ठा हो गए थे. मजदूरों की मांग है कि उन्हें उनके गृह राज्य पहुंचाया जाए. इसके बाद ही शिवराज सिंह चौहान ने यह घोषणा की है.

इस राज्य में स्वास्थ्य विभाग के 80 से ज्यादा अधिकारी व डॉक्टर कोरोना से है संक्रमित

एमपी के इस शहर में जमातियों के संपर्क में आए 235 लोगों की हुई पहचान

मध्य प्रदेश के 25 जिलों में कोरोना का कहर बढ़ा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -