+

भाजपा के बागी नेताओं की कांग्रेस में एंट्री का विरोध, हाईकमान से हस्तक्षेप की मांग

भाजपा के बागी नेताओं की कांग्रेस में एंट्री का विरोध, हाईकमान से हस्तक्षेप की मांग

भोपाल: मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से बगावत कर कांग्रेस सरकार का पक्ष लेने वाले दो बागी विधायकों का अब कांग्रेस में भी विरोध होने लगा है. बुधवार को दंड विधि संशोधन विधेयक पर मत विभाजन के दौरान के मैहर से भाजपा MLA नारायण त्रिपाठी और ब्यौहारी से MLA शरद कौल ने कांग्रेस का समर्थन किया था. तब इस इस बात के कयास लगाए जाने लगे थे कि ये दोनों MLA कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं. 

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार, अब कांग्रेस के ही कई नेताओं और विधायकों ने इन दोनों नेताओं को पार्टी में लेने के प्रयासों का विरोध करना शुरू कर दिया है. कांग्रेस नेताओं ने इन विधायकों को 'आदतन दलबदलू' बताया है. कांग्रेस नेता श्रीकांत चतुर्वेदी ने कहा कि, "ये आठवीं बार है कि नारायण त्रिपाठी पार्टी बदल रहे हैं, अब उनका पर्दाफाश हो गया है, 2014 के लोकसभा चुनाव से महज 2 दिन पहले उन्होंने कांग्रेस छोड़ कर भाजपा का दामन थाम लिया था."

आपको बता दें कि 2018 के विधानसभा चुनाव में नारायण त्रिपाठी ने श्रीकांत चतुर्वेदी को मैहर विधानसभा सीट से मात दी थी. श्रीकांत चतुर्वेदी ने सतना के मैहर में अपने समर्थकों, स्थानीय कांग्रेस नेताओं के साथ प्रेस वार्ता की. श्रीकांत चतुर्वेदी ने कहा कि हाई कमान को इन नेताओं को कांग्रेस में शामिल करने से पहले स्थानीय कांग्रेस नेताओं से चर्चा करनी चाहिए और उन्हें विश्वास में लेना चाहिए. 

महबूबा मुफ़्ती बोलीं, कश्मीर में अतिरिक्त सुरक्षाबलों की तैनाती से लोगों में फ़ैल रही दहशत

अफ़ग़ानिस्तान के ग़ज़नी में बम ब्लास्ट, चार की मौत, 20 घायल

अपने जन्मदिन पर उद्धव ठाकरे की अपील, बैनर-पोस्टरों पर पैसा बर्बाद ना करें, सामाजिक कार्यों में लगाएं