मप्र विधानसभा ने दी नकली शराब से हुई मौतों के मामलों में विधेयक को मंजूरी

मध्य प्रदेश विधानसभा ने मंगलवार, 11 अगस्त को नकली शराब के सेवन से हुई मौतों से संबंधित मामलों में मृत्युदंड और आजीवन कारावास का प्रावधान करने वाला एक विधेयक पारित किया। विधानसभा ने मध्य प्रदेश आबकारी (संशोधन) विधेयक भी पारित किया, जो मौत का कारण बनने वाली नकली शराब बनाने और आपूर्ति करने के लिए दूसरी बार दोषी ठहराए जाने के लिए मृत्युदंड और 20 लाख रुपये तक के जुर्माने का प्रावधान करता है। 

वित्त और आबकारी मंत्री जगदीश देवड़ा, जिन्होंने बिल पेश किया, ने प्रस्तावित कानून का उल्लेख किया जिसे मंजूरी के लिए राज्यपाल मंगूभाई पटेल को भेजा गया है, जिससे राज्य में अवैध शराब की बिक्री और निर्माण पर रोक लगेगी। राज्य में पहले आबकारी कानून में पहली बार अवैध शराब के कारोबार में शामिल होने वालों को दो महीने से दस साल तक की कैद और दूसरी बार आजीवन कारावास का प्रावधान था। 

अधिकारियों ने पिछले 11 महीनों में अवैध शराब के सेवन से लगभग 50 लोगों की मौत का हवाला दिया और कहा कि इससे सरकार को कानून में संशोधन की मांग करनी पड़ी।

अचानक सेंगर नदी में जा गिरा शख्स, हुई मौत

मजदूर विरोधी नीतियों को लागू कर रही है भाजपा सरकार: आरजेसी कृष्णा

फिर खुलेगा 'किस्मत' का दरवाजा, इस तारीख से शुरू हो रहा है 'कौन बनेगा करोड़पति-13'

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -