बुरी आत्मा भगाने के नाम पर 6 महीने तक नाबालिग का बलात्कार करता रहा निहाल बेग, ऐसे खुला राज़

भोपाल: मध्यप्रदेश कि राजधानी भोपाल के हबीबगंज में 10वीं कक्षा की छात्रा के साथ बुरी आत्मा भगाने के नाम पर बलात्कार किए जाने का मामला सामने आया है. यहां 30 वर्षों के फल विक्रेता ने 10वीं कक्षा की छात्रा शरीर से बुरी आत्मा भगाने के नाम पर 6 महीने से अधिक दिनों तक बलात्कार की वारदात को अंजाम दिया. इस मामले में पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है. पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, 10वीं कक्षा की एक छात्रा के साथ निहाल बेग नाम के आरोपी ने दुष्कर्म किया है. छात्रा ने पुलिस को बताया है कि निहाल बेग उसके घर पर आया था. आरोपी ने दावा किया था कि उसकी प्रार्थना से घर में खुशहाली आएगी और आर्थिक दिक्कतें खत्म हो जाएंगी.

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, पीड़िता के पिता का इलेक्ट्रॉनिक गैजेट का कारोबार था. वहीं पीड़िता की मां एक निजी स्कूल में शिक्षिका है. लॉकडाउन के दौरान पीड़िता के पिता को बिजनेस में बहुत नुकसान हुआ था, जिसके चलते वह डिप्रेशन में चला गया था. इसी दौरान पीड़िता के परिजनों की मुलाकात निहाल बेग से हुई. निहाल बेग ने परिजनों को बताया कि लड़की के शरीर में एक बुरी आत्मा का साया है, जिसे वह निकाल सकता है. अधिकारियों ने कहा कि, आरोपी हफ्ते में दो बार पीड़िता के घर जाता था और परिवार के सभी सदस्यों को समझाता था कि जब कर्मकांड हो रहा हो, तो उन्हें अलग-अलग कमरों में रहना चाहिए. परिजनों को कमरों में बंद करने के बाद निहाल बेग लड़की के साथ बलात्कार की वारदात को अंजाम दिया करता था. 

पीड़िता ने आरोप लगाते हुए कहा है कि बलात्कार की वारदात के बाद निहाल बेग उसके माता-पिता को जान से मारने की धमकी देता था. मामला उस वक़्त उजागर हुआ जब आरोपी ने दावा किया कि उसने आत्मा को दूर कर दिया है और अब उसे पीड़िता के घर पर आने की आवश्यकता नहीं है. आरोपी की बात सुनने के बाद पीड़िता ने अपने माता-पिता को अपने साथ होने वाले बलात्कार के बारे में जानकारी दी. पीड़िता की बात सुनने के बाद उसके माता-पिता ने पुलिस में केस दर्ज कराया. पीड़िता की शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. 

बलात्कार करने से रोका, तो देवर ने अपनी भाभी और भतीजे को जिन्दा जला डाला

शख्स को 3 शादियां करना पड़ा महंगा, पत्नियों के कारण हुई बेरहमी से हत्या

बैंक में ही चपरासी ने लगाई फांसी, सुसाइड नोट से खुला मौत का राज

Most Popular

- Sponsored Advert -