'ईसाई बन जा, प्रतिमाह 20 हज़ार मिलेंगे..', सागर से भी सामने आया धर्मांतरण का घिनोना खेल

सागर: मध्य प्रदेश के जिला सागर में धर्मान्तरण के लिए दबाव बनाने का मामला सामने आया है। यह दबाव कैंट थानाक्षेत्र के अंगारत आने वाले भैंसा गाँव के रहने वाले अभिषेक अहिरवार पर बनाया जा रहा है। अभिषेक ने आरोप लगाया है कि ईसाई धर्म अपना चुके उसके फूफा ससुर इस मामले के सूत्रधार हैं। अभिषेक ने अपनी पत्नी को बहला-फुसलाकर मायके में ही रोक लेने की शिकायत भी पुलिस को दी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अभिषेक की शिकायत पर पुलिस ने आरोपित फूफा ससुर रमेश मसीह पर केस दर्ज कर लिया है।

यह प्रकरण मध्य प्रदेश धार्मिक स्वतंत्रता अधिनियम 2021, 506 व धारा 34 के तहत दर्ज किया गया है। पुलिस ने इस मामले में 2 अन्य लोगों को भी अभियुक्त बनाया है। ये दोनों मुख्य आरोपित रमेश मसीह के सहयोगी हैं। अभिषेक के मुताबिक, 8 दिसंबर 2020 में को उसकी शादी सागर जिले के खुरई की सपना के साथ हुई थी। पूरा विवाह हिन्दू विधि-विधान के साथ संपन्न हुआ था। कुछ दिन सब सही चलने के बाद अचानक 4 महीने बाद अभिषेक की पत्नी का फूफा ईसाई बनने के लिए दबाव डालने लगा। इसके साथ ही उसने सपना को भी अभिषेक के खिलाफ उकसाना शुरू कर दिया। धीरे-धीरे आरोपी सपना को उसकी ससुराल भेजने में भी टालमटोल करने लगा। 

अगस्त 2021 में सपना रक्षाबंधन के लिए अपने मायके गई हुई थी। कुछ दिनों बाद उसके फूफा रमेश मसीह ने सपना को अपने घर बुला लिया। उसके बाद से सपना को ससुराल वापस नहीं भेजा गया है। अभिषेक के मुताबिक, उसकी पत्नी सपना भी आरोपितों की बातों में आ गई है। उसका कहना है कि साथ रहना है तो ईसाई बन जाओ। फूफा ससुर रमेश मसीह ने इसी के साथ चेतावनी दी है कि यदि वह ईसाई नहीं बना,  तो वे लोग सपना की शादी कहीं और करवा देंगे। पुलिस को दी शिकायत में 19 वर्षीय अभिषेक ने कहा है कि उसकी पत्नी को उसके फूफा ससुर रमेश मसीह ने बहकाकर अपने घर में रख लिया है। पत्नी को विदा करने के एवज में उस पर हिन्दू धर्म छोड़कर ईसाई बनने का दबाव डाला जा रहा है। धर्म परिवर्तन के बाद उसको हर महीने 20 हजार रुपए मिलने का भी लालच दिया जा रहा है।

इस मामले में एडिशनल पुलिस अधीक्षक विक्रम सिंह कुशवाहा ने कहा है कि केस दर्ज कर लिया गया है। प्रत्येक बिंदु पर गहन जाँच करवाई जा रही है। इस मामले में कैंट थाना प्रभारी ने बताया कि मामले से संबंधित आरोपितों व अन्य लोगों को बुलाकर पूछताछ की जा रही है। अभियुक्त रमेश मसीह ने इस से पहले किसी पर दबाव आदि बनाया या नहीं इसकी भी तफ्तीश चल रही है। मामले से संबंधित लोगों की कॉल डिटेल आदि की भी जाँच हो रही है। जाँच के हिसाब से आगे की कार्रवाई की जाएगी।

MP: प्रो कबड्डी का नेशनल प्लेयर निकला तस्कर, पुलिस ने किया गिरफ्तार

शिक्षक ने की सातवीं कक्षा के छात्र की ऐसी पिटाई कि हो गई मौत

50 लाख की फिरौती के लिए युवक को जिन्दा जलाया, स्कूल संचालक समेत 2 गिरफ्तार

 

 

 

Most Popular

- Sponsored Advert -