MP: तेज बारिश के बीच बढ़ा चंबल नदी का जलस्‍तर, टापू पर फंसे 300 लोग

भोपाल: देश के कई हिस्‍सों में बे-मौसम बारिश होने लगी है। इस लिस्ट में मध्‍य प्रदेश भी शामिल है जहाँ बारिश से किसान और आम जनजीवन प्रभावित हो रहा है। बीते सोमवार को भारी बारिश की वजह से यहां सबलगढ़ क्षेत्र के मड़राइन घाट पर देर रात 300 से अधिक लोग पानी में घिर गए। बताया जा रहा है यह लोग करौली माता मंदिर से जात करके वापस लौट रहे थे। वहीं यह भी खबर है कि यह लोग मड़राइन घाट पर पहुंचे और वहां से चंबल नदी में पैदल उस टापू पर पहुंच गए जहां से स्टीमर में चढ़ा जाता है। इस दौरान जैसे ही लोग टापू पर पहुंचे तभी अचानक चंबल नदी का जल स्तर बढ़ गया जिससे लोग चारों तरफ से पानी में घिर गए।

यहाँ यात्रियों में महिलाएं व बच्चे भी शामिल थे और लोगों ने टेटरा थाना पुलिस को फोन कर पूरी जानकारी दी। इस मौके पर पहुंची पुलिस टीम ने किसी तरह लोगों को टापू से बाहर निकाला। इस घटना को बीते सोमवार देर शाम की बताया जा रहा है। कुछ मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सबलगढ़ में बहने वाली चंबल नदी में अटार घाट से मड़राइन घाट के बीच में स्टीमर चलता है। जी दरअसल यहां एक ही स्टीमर है और यहां से दोनों तरफ लोगों का आवागमन होता है। बताया जा रहा है यह स्टीमर कुछ दिनों से खराब चल रहा है। ऐसे में बीते सोमवार को लगभग 300 से अधिक लोग करौली माता की जात(पूजा) करके वापस सबलगढ़ लौट रहे थे।

बताया जा रहा है यह लोग मड़राइन घाट पर पहुंच गए। ऐसे में वहां से चंबल नदी में पैदल-पैदल उस टापू पर पहुंचे जहां से स्टीमर पर चढ़ा जाता है और स्टीमर खराब था। वह सुधारा जा रहा था। बताया जा रहा है यह लोग इंतजार कर रहे थे लेकिन अचानक चंबल नदी का जल स्तर बढ़ गया। देखते ही देखते जल स्तर बढ़ने से टापू के चारों तरफ पानी बढ़ गया। पानी बढ़ने से लोगों को बहने की चिंता सताई तो उन्होंने तुरंत टेंटरा थाना पुलिस को फोन करके समस्या बताई। इस मामले में देखते ही देखते टेंटरा थाने का स्टॉफ मौके पर पहुंचा और उसने स्टीमर को जल्द सुधरवाया तथा उससे लोगों को मौके से निकाला। वहीं लोगों के फसने की खबर जैसे ही जिला प्रशासन को मिली तो एसडीएम सबलगढ़ एलके पाण्डे व एसडीओपी सबलगढ़ गुरुवचन सिंह भी मौके पर पहुंच गए।

वहीं इस पूरे मामले में एसडीओपी गुरुवचन सिंह का कहना है कि उन्हें जैसे ही लोगों के फंसे होने की खबर मिली तो वे सबलगढ़ से मैकेनिक को लेकर गए और स्टीमर को तुरंत ठीक करवाया। स्टीमर सुधरने के बाद सभी लोगों को वहां से सुरक्षित निकाल लिया गया। फिलहाल सभी लोग सुरक्षित हैं।

केरल में मची भंयकर तबाही से 35 लोगों की मौत, 11 जिलों के लिए जारी येलो अलर्ट

VIRAL: देवदूत बना RPF कांस्टेबल, बचाई गर्भवती महिला की जान

केरल में बारिश ने मचाई तबाही, 27 मरे।।।, IMD ने कहा- अभी और ख़राब होगा मौसम

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -