दर्द से कराहते जितेंद्र को 5 साल बाद पाकिस्तान ने किया रिहा

मध्यप्रदेश के सिवनी जिले के रहने वाले जितेंद्र अर्जुनवार जो कि पिछले पांच सालों से पाकिस्तान की जेल में बंद था, उसे हाल ही में पाकिस्तान की तरफ से छोड़ दिया गया है. अमृतसर में भारत-पाकिस्तान की बाघा बॉर्डर से भारत आये जितेंद्र को टीबी और ब्लड कैंसर की बीमारी है, जितेंद्र का पाकिस्तान में भी इलाज चल रहा था हालाँकि अब उसे छोड़ दिया गया है. 

12 अगस्त 2013 को पाकिस्तान के खोखरापार में जितेंद्र को पाकिस्तानी रेंजर्स के द्वारा पकड़ लिया गया था, जिसके बाद उसे पाकिस्तान की जेल में कैद कर लिया गया, हाल ही में पता चला कि उसे टीबी और कैंसर जैसी बीमारी है. पाकिस्तान से रिहा होने के बाद जितेंद्र को बाघा बॉर्डर से  बीएसएफ के हवाले किया गया. इसके बाद डिस्ट्रिक्ट एडमिनिस्ट्रेशन के हवाले करने के बाद जितेन्द्र को हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है.

एएसपी गोपाल खांडेल के अनुसार पाकिस्तान से रिहा होने के बाद जितेंद्र को अभी उनके गाँव सिवनी (बरघाट) लाने में थोड़ा और समय लग सकता है. एएसआई सराठे और भरत गुरुवार रात को बाघा बार्डर (अमृतसर ) पहुंचे, उन्होंने बताया कि सब कुछ ठीक रहा तो जल्द ही जितेंद्र को उनके गाँव रवाना कर दिया जाएगा, फ़िलहाल उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं है इसलिए इंतजार करना होगा. 

कार हादसा: एक बार फिर खाई बनी मौत की वजह

यूपी की तरह मध्यप्रदेश में भी होंगे दो उपमुख्यमंत्री, यह है संभावित नाम !

ग़रीबों के हित में सीएम ने की घोषणा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -