जिंदगी कैसी है पहेली... लिखने वाले गीतकार योगेश ने दुनिया को कहा अलविदा

जिंदगी कैसी है पहेली... लिखने वाले गीतकार योगेश ने दुनिया को कहा अलविदा

नई दिल्ली: दिग्गज गीतकार योगेश का आज शुक्रवार को देहांत हो गया है. वो 77 साल के थे. योगेश ने बॉलीवुड इंडस्ट्री में अपना अहम् योगदान दिया है. हिंदी सिनेमा की महान कलाकार और स्वर साम्राज्ञी के नाम से विख्यात लता मंगेशकर ने उनके निधन की खबर सोशल मीडिया पर दी. लता मंगेशकर ने योगेश को श्रद्धांजलि दी है.

लता मंगेशकर ने apne adhikarik twitter handle पर लिखा है कि- 'मुझे अभी पता चला कि दिल को छूनेवाले गीत लिखने वाले कवि योगेश जी का आज स्वर्गवास हुआ. ये सुनकर मुझे बहुत दुख हुआ. योगेश जी के लिखे गीत मैंने गाए. योगेश जी बहुत शांत और मधुर स्वभाव के इंसान थे. मैं उनको विनम्र श्रद्धांजलि अर्पण करती हूं.' बता दें कि लता मंगेशकर ने कई फिल्मों में योगेश के साथ काम किया है.

gaurtalab है कि योगेश ने कहीं दूर जब दिन ढल जाए और जिंदगी कैसी है पहेली जैसे हिट सॉन्ग के बोल लिखे हैं. उन्होंने ऋषिकेश मुखर्जी और बासु चटर्जी जैसे बड़े निर्देशकों के साथ काम किया है. योगेश को अपना पहला ब्रेक गीतकार के रूप में फिल्म Sakhi Robin (1962) से मिला, जिसमें उन्होंने छह गाने लिखे. उन्होंने छोटी सी बात (1976), बातों बातों में (1979), मंज़िल (1979), रजनीगंधा (1974), प्रियतमा (1977) मंजिलें और भी हैं (1974) और कई और फिल्मों के लिए गीत लिखे, जो काफी मशहूर हुए.

जीजू को अर्जुन कपूर ने दी 'स्लिक बैक साइड प्राइंग विंटेज ब्रिटिश’ हेयर स्टाइल अपनाने की सलाह

एक ट्वीट के चलते जमकर ट्रोल हुई यह एक्ट्रेस, बवाल मचने पर छोड़ा ट्विटर

टिड्डियों के हमले को इस एक्ट्रेस ने बताया 'कर्मो का फल', ट्रोलर्स बोले- 'चूहे खाने के बाद बिल्ली हज को चली'