देश के लिए कई मेडल जीत चुकी है लवलीना बोरगोहेन

भारत की मशहूर मुक्केबाज़ लवलीना बोरगोहेन का आज जन्मदिन है। लवलीना असम के गोलाघाट जिले के बड़ा मुखिया गांव की रहने वाली हैं। लवलीना का जन्म 2 अक्टूबर 1997 को हुआ था। लवलीना के पिता टिकेन बोरगोहेन एक कारोबारी हैं तथा मां ममोनी हाउस वाइफ हैं। आरम्भ में लवलीना का रुझान किक-बॉक्सिंग की ओर था। स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया के बॉक्सिंग ट्रायल के चलते कोच पदुम बोरो की नजर लवलीना के खेल पर पड़ी, जिन्होंने 2012 में उन्हें कोचिंग देना आरंभ किया था।

तत्पश्चात, उन्होंने भारत के मुख्य महिला बॉक्सिंग कोच शिव सिंह से ट्रेनिंग लेना आरम्भ किया। लवलीना ने 2012 से बॉक्सिंग की कोचिंग लेनी आरम्भ की। इसके पश्चात् फरवरी 2018 में लवलीना ने इंडिया ओपन में गोल्ड मेडल जीत सबका ध्यान अपने खेल की तरफ आकर्षित किया। इससे पूर्व नवंबर, 2017 में वियतनाम में एशियाई बॉक्सिंग चैंपियनशिप तथा जून, 2017 में अस्ताना में प्रेसिडेंट्स कप में भी उन्होंने ब्रॉन्ज मेडल जीता था।

वही 2018 राष्ट्रमंडल खेलों के क्वार्टर फाइनल में लवलीना को अमेरिका की सैंडी रयान के हाथों पराजय का सामना करना पड़ा। इस पराजय के पश्चात् उन्होंने अपनी फिटनेस के साथ साथ मेडिटेशन तकनीक का सहारा भी लिया। इस परिवर्तन का उन्हें लाभ भी प्राप्त हुआ तथा उन्होंने वर्ष 2018 के आखिर में और इसके पश्चात् 2019 में आयोजित विश्व चैंपियनशिप में निरंतर दो ब्रॉन्ज मेडल जीते।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -