'लवरात्रि' पर सलमान का बड़ा बयान, इसका उद्देश्य किसी संस्कृति को नीचा दिखाना नहीं

'लवरात्रि' पर सलमान का बड़ा बयान, इसका उद्देश्य किसी संस्कृति को नीचा दिखाना नहीं

सलमान खान ने अपनी आगामी फिल्म 'लवरात्रि' के बारे में कहा है कि इसका उद्देश्य किसी संस्कृति को नीचा दिखाना या अपमानित करना बिलकुल नहीं है. सलमान के होम प्रोडक्शन की इस फिल्म के नाम को लेकर कुछ दक्षिणपंथी संगठनों ने आपत्ति जताते हुए एक हिन्दू उत्सव के नाम को विकृत करने का आरोप भी लगाया है. हालांकि सलमान ऐसा नहीं मानते हैं. 

एक भी फ्लॉप फिल्म नहीं, फिर भी सुपरस्टार नही है वरुण, संजय-सलमान है वजह

सलमान का कहना है कि कुछ लोगों को फिल्म के नाम को लेकर आपत्ति जरूर है. यह बेहद खूबसूरत नाम है. प्रेम से अधिक सुंदर कुछ भी नहीं हो सकता है, इसलिए इसे 'लवरात्रि' कहा गया है. इसका उद्देश्य किसी संस्कृति को नीचा दिखाना नहीं है. हमारे प्रधानमंत्री भी उसी संस्कृति से ही आते हैं. 

अक्षय कुमार की फिल्म को लेकर दबाव क्यों झेल रही है कृति खरबंदा ?

फिल्म 'सुल्तान' में मैंने एक हरियाणवी का चरित्र निभाया था या एक फिल्म में सरदार का चरित्र निभाया था. इन्हें करते वक्त उनके मन में इनके प्रति काफी सम्मान था. सलमान ने आगे कहा कि हम यह फिल्म नवरात्रि की पृष्ठभूमि पर बना रहे हैं. हम यह खूबसूरत फिल्म उत्सव के संगीत, विविधता, प्रेम और मौज मस्ती के साथ तैयार रहे हैं. 52 वर्षीय अभिनेता ने उम्मीद जताई है कि केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड से इस फिल्म को यू प्रमाणपत्र जरूर देगा. 

बॉलीवुड अपडेट्स...

राजघराने से ताल्लुक रखती हैं ये एक्ट्रेस, तस्वीरें देखकर उड़ जाएंगे होश

'लैला मजनू' के लिए तृप्ति ने खुद को कर लिया था खुद से अलग