संता की लवस्टोरी

Sep 03 2015 02:33 PM
संता की लवस्टोरी

tyle="text-align:justify">गर्लफ्रेंड: आई लव यू बेबी।
संता उदासी से से बोला : `मैं भी तुमसे प्यार करता हूँ।`
गर्लफ्रेंड: ऐसा क्यों?
संता: बस थोड़ा सा मूड़ ख़राब था।
गर्लफ्रेंड: दोस्तों के साथ तो बड़े खुश रहते हो, मेरे साथ ही ड्रामे।
संता (प्यार से): ऐसा कुछ नहीं जानू, तबियत थोड़ी नहीं ठीक है।
गर्लफ्रेंड: हाँ, दोस्त अभी फोन कर देगा तो 2 सेकंड में तबियत ठीक हो जायेगी।
संता: दोस्त कहाँ से आये, मेरा मूड़ थोड़ा परेशान है बस।
गर्लफ्रेंड: मेरे साथ ही ये सब होता है, दोस्तों के साथ मज़े करते हो, या कोई और लड़की पसंद आ गई?
संता और ज्यादा प्यार से, `अरे, कहाँ से कहाँ बात ले जा रही हो?`
गर्लफ्रेंड: आज सब साफ़-साफ़ होगा।
संता: क्या साफ़ करना है जानू, ऐसा क्या हो गया है?
गर्लफ्रेंड (खुद कंफ्यूज): जब तुम खुद साफ़ नहीं, तुम्हें कुछ पता नहीं तो मैं क्या बोलूं।
संता समझदार बनने की नक़ल करते हुए, `तुम्हे क्या हुआ है, किस बात पर परेशान हो, बताओ?`
गर्लफ्रेंड: तुम्हारी संगत खराब है।
संता: मेरे साथ तो तुम हो।
गर्लफ्रेंड: अब बहुत हो गया, अब और नहीं।
संता: (चिल्लाते हुए): हुआ क्या है, ये तो बताओ?
गर्लफ्रेंड: हम अब साथ नहीं रह सकते।
संता: ये बात कहाँ से आई?
गर्लफ्रेंड: मैं इसे तोड़ना चाहती हूँ।
संता (चिढ़कर): हमसे, ठीक है।
गर्लफ्रेंड (गुस्सा होते हुए): हाँ, यही चाहते हो तुम तो, फिर तुम जो मर्ज़ी कर सको।
संता: अरे खुद ही बोला अभी, मैंने क्या गलत कहा?
गर्लफ्रेंड: इतनी तकलीफ़ थी तो बोला, क्यों नहीं, मैं खुद बिना बोले चली जाती तुम्हारी जिन्दगी से।
संता अपने बाल पकड़कर, `मुझे मेरी गलती तो बता दो?`
गर्लफ्रेंड: वक़्त आने पर पता चलेगी तुम्हें अपने आप, जब मैं चली जाऊँगी।
संता: अच्छा, तो मैं इंतज़ार करता हूँ, सही वक़्त का।
गर्लफ्रेंड: तुम सिरियस कब हो गए?
संता: अब क्या हॉस्पिटल में भर्ती हो जाऊं सिरियस होने के लिए।
गर्लफ्रेंड: भाड़ में जाओ।
संता: दोबारा मुझे फोन मत करना।
3 घंटे बाद
गर्लफ्रेंड: तुम्हें पता है न, मैं तुम्हारे बिना नहीं रह सकती जानू, सॉरी आई लव यू मेरे बेबी।
संता (सब भूलकर): अच्छा फिर, मैं भी तुमसे प्यार करता हूँ।
गर्लफ्रेंड: इतनी उदास आवाज में क्यों?
संता बेहोश .........:(:(