सोशल मीडिया पर भी सख्त हुआ चुनाव आयोग, आचार संहिता के बीच ना करें ये काम

2019 लोकसभा चुनावों की तारीखों की आयोजन और उसके नतीजों की तारीखों का ऐलान हो गया है. कल मुख्य चुनाव आयुक्त ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस बात की जानकारी दी कि इस बार चुनाव 7 चरणों में होंगे. इसके साथ ही देशभर में कल से आचार संहिता भी लागू हो गई. इसी बीच अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने सोशल मीडिया पर भी आचार संहिता लागू होना बताया है. 

इसे लेकर उन्होंने कहा कि सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स को इस दौरान किसी भी राजनीतिक पार्टियों के विज्ञापन पोस्ट करने से पहले जानकारी प्रदान करनी होगी. जबकि अनुमति मिलने के बाद ही वे  ऐसा कर सकेंगे. गूगल और फेसबुक को इलेक्शन कमीशन द्वारा ऐसे विज्ञापनदाताओं की पहचान करने के लिए कहा गया है.

फेक न्यूज और हेट स्पीच को नियंत्रित करने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स को ये कदम उठाने होंगे. जबकि इसके लिए सोसाहल मीडिया प्लेटफॉर्म को अधिकारी भी नियुक्त करने के लिए कहा गया है. इलेक्शन कमीशन ने आम जनता और पार्टियों के लिए कुछ ऐप्स और डिजिटल पोर्टल्स की भी जानकारी प्रदान की है. जहां एक वेब पोर्टल 'समाधान' नमक आम जनता के लिए उपलब्ध कराया जाएगा. साथ ही कुहनॉवों की मद्देनजर दिव्यांगों के लिए एक खास ऐप भी तैयार किया गया है. बताया जा रहा है कि चुनाव आयोग द्वारा पर्सन विद डिसेब्लिटी (पीडब्ल्यूडी) नाम से एक ऐप तैयार किया है. एप में  मतदाताओं को पोलिंग बूथ पर कई सुविधाएं मिलेगी. 

WhatsApp का बड़ा फैसला, ऐसे यूजर्स को दी कड़े शब्दों में चेतावनी

भारत में यह कंपनी लाई नया स्मार्ट TV, ये है फीचर्स...

Huawei Mate 20 Pro होगा पहले से भी ख़ास, आ गया नया अपडेट

एक साथ इन पदों पर आई नौकरियां, ऐसे करें अप्लाई ?

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -