इन 3 गीतों के बिना अधूरी है लोहड़ी, जरूर गाये

हर साल आने वाला लोहड़ी (Lohri 2022) का पर्व इस साल 13 जनवरी को मनाया जाने वाला है। ऐसे में लोहड़ी के दिन लोग जमकर गीत गाते हैं और जश्न मनाते हैं। आज हम आपको बताने जा रहे हैं लोहड़ी से जुड़े कई गीत जो बहुत प्रसिद्ध हैं। यह सभी वह गीत है जो खास लोहड़ी पर ही गाए जाते हैं। जी हाँ और इस मौके पर बड़ों के साथ-साथ बच्चों के लिए भी विशेष गीत बनाए गए हैं। इसके अलावा लोहड़ी पर दुल्ला भट्टी की कहानी सुनी जाती है, जो एक योद्धा था। उनको गीत के रूप में जरूर याद किया है। आपको बता दें कि दुल्ला भट्टी ने दो गरीब कन्याओं, सुंदरी-मुंदरी' के कन्यादान में केवल एक सेर शक्कर देकर शादी की थी। आइए आपको बताते हैं लोहड़ी से जुड़ा प्रसिद्ध गीत।

सुंदर मुंदरिए- हो तेरा कौन विचारा-हो
दुल्ला भट्टी वाला-हो
दुल्ले ने धी ब्याही-हो
सेर शक्कर पाई-हो
कुडी दे बोझे पाई-हो
कुड़ी दा लाल पटाका-हो
कुड़ी दा शालू पाटा-हो
शालू कौन समेटे-हो
चाचा गाली देसे-हो
चाचे चूरी कुट्टी-हो
जिमींदारां लुट्टी-हो
जिमींदारा सदाए-हो
गिन-गिन पोले लाए-हो
इक पोला घिस गया जिमींदार वोट्टी लै के नस्स गया - हो!

बच्चे लोहड़ी मांगते समय गाते हैं ये गीत-
'पा नी माई पाथी तेरा पुत्त चढेगा हाथी हाथी
उत्ते जौं तेरे पुत्त पोत्रे नौ!
नौंवां दी कमाई तेरी झोली विच पाई
टेर नी माँ टेर नी
लाल चरखा फेर नी!
बुड्ढी साँस लैंदी है
उत्तों रात पैंदी है
अन्दर बट्टे ना खड्काओ
सान्नू दूरों ना डराओ!
चारक दाने खिल्लां दे
पाथी लैके हिल्लांगे
कोठे उत्ते मोर सान्नू
पाथी देके तोर!

लड़कियां गाती हैं ये बधाई गीत-
लोहड़ी के मौके पर लड़कों के साथ लड़कियों की भी हिस्सेदारी होती है। लड़कियां ये बधाई गीत गाती हैं।
'कंडा कंडा नी लकडियो
कंडा सी
इस कंडे दे नाल कलीरा सी
जुग जीवे नी भाबो तेरा वीरा नी,
पा माई पा,
काले कुत्ते नू वी पा
काला कुत्ता दवे वदाइयाँ,
तेरियां जीवन मझियाँ गाईयाँ,
मझियाँ गाईयाँ दित्ता दुध,
तेरे जीवन सके पुत्त,
सक्के पुत्तां दी वदाई,
वोटी छम छम करदी आई।'

लोहड़ी पर दिखना है आकर्षक तो इन खूबसूरत ऑउटफिट्स को चुन सकती हैं आप

लोहड़ी पर जरूर बनाए सबसे टेस्टी मखाने की खीर

लोहड़ी पर सुनते हैं दुल्ला भट्टी की ये कहानी

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -