जहां पैदा हुआ 'ओमिक्रॉन वैरिएंट', वहां क्या लॉकडाउन लगा रही है सरकार?

साउथ अफ्रीका के स्वास्थ्य मंत्री जो फाहला ने बताया है कि देश शख्स पाबंदी लगाए बिना ओमिक्रॉन वैरिएंट के माध्यम से आ रही कोरोना की चौथी लहर को नियंत्रित कर सकता है। उन्होंने नागरिकों से नियमों का पालन करने तथा पूर्ण रूप से टीकाकरण करने का आग्रह किया। फाहला ने कहा- हम ओमिक्रॉन को उन बुनियादी उपकरणों के साथ मैनेज कर सकते हैं, जिन्हें हम सभी जानते हैं। बता दें कि विश्व भर में वायरस के बढ़ने की आशंका उत्पन्न करने वाले ओमिक्रॉन का पहली बार बीते माह दक्षिण अफ्रीका में पता लगा था।

उन्होंने शुक्रवार को एक मीडिया ब्रीफिंग के चलते कहा, 'हम अभी भी इस प्रकार से कड़े निणर्य ले सकते हैं कि सरकार को गंभीर पाबंदी लगाने की आवश्यकता न पड़े। ऐसे संभव है अगर हम सभी सुरक्षा उपायों के अपने बुनियादी कर्तव्यों को पूरा करें। सभी पूर्ण रूप से टीका लें।' दक्षिण अफ्रीका में नए कोरोना केस नवंबर के मध्य में रोजाना तकरीबन 200 से बढ़कर शुक्रवार को 16,000 से ज्यादा हो गए हैं। Omicron वैरिएंट में 50 से ज्यादा म्यूटेशंस हैं तथा एक्सपर्ट्स ने इसे संक्रमण की रफ्तार में बड़ी छलांग कहा है। यह पूछे जाने पर कि क्या देश भर में संक्रमण की रफ़्तार से बढ़ती दर के बीच कड़े लॉकडाउन लगाया जा सकता है? स्वास्थ्य मंत्री ने उत्तर दिया कि इसपर आने वाले हफ्ते में एक बैठक होगी।

उन्होंने कहा कि यह देखने के लिए कि क्या उपाय किए जाने की आवश्यकता है, हमें बस एक हफ्ते से ज्यादा तक निगरानी की जरुरत है। आने वाले हफ्ते में एक बैठक होगी तथा हम यह भी देखेंगे कि क्या हमें उस स्तर से पाबंदी बढ़ाने की जरुरत है जो हम सोच रहे हैं। दक्षिण अफ्रीका पांच-स्तरीय लॉकडाउन रणनीति का उपयोग करता है तथा वर्तमान में इसके सबसे निचले स्तर पर है। फाहला ने कहा कि जिन व्यक्तियों को टीका लगाया गया है, उनमें से सिर्फ कुछ ही लोग बीमार हुए हैं, जिनमें अधिकांश हल्के मामले हैं। इसके अतिरिक्त हॉस्पिटल में एडमिट होने वालों में से अधिकांश वे हैं जिन्होंने टीका नहीं लिया था। मंत्री ने लक्षणों की अनदेखी करने तथा कोरोना नियमों का पालने न करने के लिए लोगों की सख्त निंदा की।

नगालैंड फायरिंग में 14 हुई मरने वालों की संख्या, असम राइफल्स ने बताया क्यों हुआ था?

ASI पर युवती ने लगाया सगीन इलज़ाम, जानिए क्या है पूरा मामला

'पाकिस्तान प्रेमी हैं सिद्धू', बोले- 'PAK से व्यापार हुआ तो विकास होगा'

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -